पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भरतपुर अलर्ट:2.80 लाख घरों में हैं कोरोना रोगी, उन्हें अब ट्रीटमेंट किट देंगे

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 149 रोगी और मिले }अब 1499 एक्टिव केस, 3 और लोगों ने गंवाई जान

काेराेना संक्रमण की तीसरी लहर की संभावनाओं को देखते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। इसलिए अब जिला प्रशासन की मदद से हर घर में कोविड ट्रीटमेंट किट पहुंचाई जाएंगी। इसमें ऐसी दवाइयां होंगी, जो कोरोना के हल्के लक्षण वाले रोगियों को दी जा सकेंगी।

हालांकि ये किट पहले उन घरों में भिजवाई जाएंगी, जिनमें कोविड-19 रोगी होम आइसोलेशन में है। जिन एरिया में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। वहां भी प्राथमिकता के साथ ये दवाइयां दी जाएंगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने 80 लाख टेबलेट्स की डिमांड मुख्यालय को भेजी हैं।

जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने बताया कि जिले में विभिन्न टीमों के माध्यम से सर्वे करवाकर ऐसे घरों का पता लगाया गया है, जहां कोविड-19 के रोगी हैं। वे होम आइसोलेशन में हैं और उन्हें हल्के या मध्यम स्तर के लक्षण हैं। अभी तक 2 लाख 80 हजार से ज्यादा परिवारों का सर्वे किया जा चुका है। इनमें 30 हजार से ज्यादा लोग कोरोना के हल्के लक्षण वाले पाए गए हैं। कोरोना मरीजों के साथ सही होने वालों का आंकड़ा भी अब बढ़ने लगा है। कि

किट में होंगी 5 तरह की टेबलेट
एजीथ्रोमाइसिन 500 एमजी की 3 गोली, पेरासिटामोल 500 एमजी की 10 गोली, लिवोसिट्राजिन 50 एमजी की 10 गोली, जिंक सल्फेट 10 एमजी की 20 गोली और एस्कोरबिक एसिड 500 एमजी की 10 गोली हैं।

किस तरह लेनी हैं दवाइयां, यह भी बताएंगे
सीएमएचओ ने बताया कि किट वितरण के समय चिकित्साकर्मी संबंधित परिवार के लोगों को यह भी बताएंगे कि ये दवाइयां कब औऱ किस तरह से लेनी हैं। जिले के 9 ब्लॉक में काेविड-19 के काम आने वाली 20 तरह की 1.44 लाख दवाइयां और शहरी 5 पीएचसी काे 8 तरह की 24400 दवाइयां उपलब्ध कराई हैं। अब कोरोना किट देने की तैयारी है। इसके लिए एजीथ्रोमाइसिन 4.5 लाख, पैरासिटामोल 15 लाख, लिवोसिट्राजिन 15 लाख, जिंक सल्फेट 30 लाख और एस्कोरबिक एसिड 15 लाख टेबलेट्स की डिमांड भेजी है।

खबरें और भी हैं...