पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चार हार्डकोर बदमाश फरार:अस्पताल में बंदी वार्ड के बाहर पहरा देते रहे जवान शौचालय की दीवार में सेंध लगाकर भागे 4 बदमाश

भरतपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
15 अक्टूबर को गिरफ्तार किए गए चारों बदमाश।
  • अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह से जुड़े हैं बदमाश, बसेड़ी पुलिस ने 15 अक्टूबर को ही पकड़े थे
  • पकड़ने के लिए कंचनपुर, बसेड़ी सहित मध्यप्रदेश के संभावित ठिकानों पर दबिश के लिए टीमें रवाना
  • कूलर के शोर में पुलिसकर्मियों को नहीं लगी दीवार तोड़ने की भनक, वार्ड में भर्ती दूसरे बंदी ने शोर मचा बुलाई पुलिस

एक हवलदार और चार सिपाही जिला अस्पताल में बंदी वार्ड के क्वारेंटाइन सेंटर के बाहर टेंट में पहरा देते रहे और चार हार्डकोर बदमाश शौचालय की दीवार में सेंध लगाकर फरार हो गए। पुलिस को इसका पता तब लगा, जब उसी सेंटर में भर्ती एक अन्य बंदी ने शोर मचाया। पुलिस कर्मियों ने मौका देखने के बाद कंट्रोल रूम को सूचना दी। जब तक पुलिस सक्रिय हुई, तब तक बदमाश पुलिस की पकड़ से काफी दूर जा चुके थे।

घटनाक्रम के अनुसार अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के चार बदमाश अजीत पुत्र रामकुमार (20), विकास पुत्र मुन्नालाल (27), आकाश पुत्र मुन्ना (19) और कल्याण सिंह (23) पुत्र शिवचरण को 15 अक्टूबर को बसेड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। कोर्ट के आदेश पर चारों बदमाशों की कोरोना जांच करवाने के बाद उन्हें अस्पताल के कोरोना बंदी वार्ड में भर्ती किया गया था।

यहां आने के बाद से ही चारों बदमाश भागने की योजना बनाने लगे थे। उन्होंने क्वारेंटाइन सेंटर की रैकी करने के बाद शनिवार रात को शौचालय की दीवार के पत्थर निकालकर बड़ा सा छेद किया और वहां से भाग निकले। पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती एक अन्य बंदी ने पुलिस को बताया कि चारों बदमाश एक- एक करके बार-बार शौचालय जा रहे थे।

जब उनका काम पूरा हो गया तो वे चारों वार्ड में आ गए। कुछ ही देर बाद चारों एक साथ शौचालय में चले गए। जब वे काफी देर तक बाहर नहीं निकले तो उसे शक हुआ। तब उसने बंदी वार्ड के बाहर पहरा दे रहे पुलिसकर्मियों को आवाज लगाकर इस घटना की जानकारी दी।

इस बारे में एसपी केसर सिंह शेखावत का कहना है कि चारों बदमाशों की तलाश के लिए विशेष टीमें बनाकर कंचनपुर, बसेड़ी सहित मध्य प्रदेश के कई संभावित ठिकानों पर रवाना की जा रही है। इन टीमों ने रविवार को कुछ जगहों पर दबिश भी दीं। लेकिन, इस तरह बदमाशों के भागने की घटना गंभीर है। इसकी जांच में जो भी पुलिसकर्मी दोषी होगा, उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इस दीवार तोड़कर भागे थे बदमाश।
इस दीवार तोड़कर भागे थे बदमाश।

नल के पाइप से सीमेंट हटाकर दीवार के पत्थर निकाले
अस्पताल के बंदी वार्ड में कुल 5 आरोपी भर्ती थे। बाकी बचे एक आरोपी ने पुलिस को बताया कि चारों बदमाशों ने पहले शौचालय के अंदर लगे नल को उखाड़ा। दीवारें जर्जर होने की वजह से यह आसानी से उखड़ गया। इसके बाद उन्होंने इसी नल के पाइप से दीवारों में लगी सीमेंट को हटाया। फिर उसके पत्थर निकालकर एक बड़ा खड्‌डा कर लिया था। जब पुलिस अधिकारियों को बदमाशों के भागने की जानकारी मिली तो उनके होश उड़ गए। पुलिस अब तलाश में लगी है।

बंदी वार्ड के पास ही लगा है सुरक्षाकर्मियों का टैंट

बंदियों के लिए बनाया गया क्वारेंटाइन सेंटर।
बंदियों के लिए बनाया गया क्वारेंटाइन सेंटर।

अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों का कहना है कि बंदी वार्ड के मुख्य गेट के बगल में ही सुरक्षाकर्मियों के लिए टेंट लगा हुआ है। वार्ड के पिछवाड़े खिड़की पर कूलर लगा हुआ है। घटना वाली रात कूलर से शोर हो रहा था। बदमाशों ने इसी का फायदा उठाते हुए अंदर से दीवार में सेंध लगा दी और ईंट-पत्थर निकालकर छेद करके उसमें से फरार हो गए।

चोरी के वाहन बेचते हुए पकड़े गए थे चारों बदमाश
पुलिस के मुताबिक इन चारों बदमाशों को 15 अक्टूबर को चंबल नदी के पुराना पुल स्थित अचलेश्वर मंदिर के पास चोरी के वाहनों की बिक्री करते हुए पकड़ा गया था। उनके कब्जे से दो देशी तमंचा, आधा दर्जन से अधिक जिंदा कारतूस, एक बोलेरो गाड़ी और दो बाइकें भी बरामद हुई थीं। ये चारों हार्डकोर बदमाश अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह से जुड़े हैं जो मध्य प्रदेश एवं राजस्थान में वारदातों को अंजाम दे रहे थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें