• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • 40 Thousand Old People Have Applied In The State, After Rameshwaram Madurai, Jagannathpuri And Gangasagar Have The Highest Desire To Do Pilgrimage

वरिष्ठ नागरिक तीर्थयात्रा योजना:प्रदेश में 40 हजार वृद्धजन कर चुके आवेदन, रामेश्वरम्-मदुरई के बाद जगन्नाथपुरी और गंगासागर तीर्थ करने की सबसे ज्यादा इच्छा

भरतपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश सरकार द्वारा करवाई जाने वाली 21 तीर्थ स्थलों की यात्रा को लेकर देवस्थान विभाग में रोजाना 2 हजार से ज्यादा आवेदन हो रहे हैं। - Dainik Bhaskar
प्रदेश सरकार द्वारा करवाई जाने वाली 21 तीर्थ स्थलों की यात्रा को लेकर देवस्थान विभाग में रोजाना 2 हजार से ज्यादा आवेदन हो रहे हैं।

बुजुर्ग तीर्थयात्रा पर जाने को लेकर खासे उत्साहित हैं। प्रदेश सरकार द्वारा करवाई जाने वाली 21 तीर्थ स्थलों की यात्रा को लेकर देवस्थान विभाग में रोजाना 2 हजार से ज्यादा आवेदन हो रहे हैं। 16 जून से शुरू हुई ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के तहत अब तक प्रदेश से 40 हजार 116 आवेदन कर चुके हैं। जबकि सरकार का टारगेट 20 हजार लोगों को तीर्थयात्रा कराना है। इस तरह औसतन रोजाना दो हजार आवेदन हो रहे हैं।

आवेदन की प्रकिया 10 जुलाई तक होगी। ऐसे में चयन लॉटरी प्रक्रिया के तहत बड़ी संख्या में बुजुर्ग तीर्थयात्रा से वंचित रहे सकते हैं क्योंकि ज्यादा आवेदन होने से फैसला लॉटरी से ही होगा। जानकारी के अनुसार सोमवार शाम तक भरतपुर जिले से कुल 1271 आवेदन हो चुके थे। वहीं संभाग के जिले धौलपुर से 349, करौली से 424 व सवाई माधोपुर से 1166 आ‌वेदन हो चुके हैं।

18 हजार यात्री ट्रेन से देश के धार्मिक स्थलों की करेंगे यात्रा, 2000 हवाई जहाज से काठमांडू के पशुपतिनाथ मंदिर जाएंगे
इस बार रामेश्वरम, मदुरई, जगन्नाथपुरी, तिरुपति, द्वारकापुरी, सोमनाथ, वैष्णोदेवी, अमृतसर, प्रयागराज, वाराणसी, मथुरा-वृंदावन, सम्मेदशिखर, पावापुरी, उज्जैन, ओंकारेशवर, गंगासागर, कामाख्या, हरिद्वार-ऋषिकेश, बिहार शरीफ व वेलनकानी चर्च (तमिलनाडु) रेल से तथा पशुपतिनाथ (काठमांडू) की यात्रा प्लेन से करवाई जाएगी।

यात्रा का रुझान बढ़ने का कारण ये : कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते 2019-20 से निशुल्क तीर्थ यात्रा पर ब्रेक लग गया था। अब सामान्य स्थिति में जब हर उम्र वर्ग के लोग घूमने बाहर निकल रहे हैं। खासकर गर्मियों की छुट्टियों में बड़ी संख्या में लोग परिवार सहित घूमने निकले। इसे देखते हुए अब बुजुर्ग भी योजना वापस शुरू होने से उत्साहित है। जो दो तीन साल से इंतजार में भी बैठे हैं।

ये नियम ध्यान में रखें : दोनों डोज लगने का प्रमाण जरूरी
यात्रा पूर्व स्वास्थ्य संबंधी चिकित्सकीय प्रमाण-पत्र पेश करना होगा। आवेदक ने पूर्व में तीर्थ यात्रा योजना का लाभ नहीं लिया हो। संक्रामक रोग जैसे टीबी, कांजेस्टिव, कार्डियक, श्वास में अवरोध, कोरोनरी अपर्याप्तता, कोरोनरी थ्रोम्बोसिस, मानसिक व्याधि, कुष्ठ रोग से ग्रसित न हो। कोविड टीकाकरण की दोनों डोज लगी होने के साथ स्वास्थ्य उपयुक्तता आवश्यक है। जिनकी उम्र 70 से अधिक है और जीवनसाथी साथ में नहीं हैं। वे सहायक ले जा सकेंगे

1271 आवेदन मिले हैं, जिसमें 2146 यात्री हैं : खंडेलवाल
​​​​​
विभाग की इस योजना को लेकर लोगों में अच्छा उत्साह है। भरतपुर में अभी तक 1271 आवेदन हो चुके हैं जिसमें 2146 यात्री हैं। कुल सीटों की संख्या 20 हजार है। जिनमें से 18 हजार यात्री ट्रेन से यात्रा करेंगे और दो हजार हवाई जहाज से जाएंगे। -केके खंडेलवाल, सहायक आयुक्त देवस्थान विभाग, भरतपुर।

खबरें और भी हैं...