एक साथ उठे 5 बेटों के जनाजे:नई कार से घूमने निकले थे, कॉल किया तो जवाब मिला- सब खत्म हो गए

भरतपुर2 महीने पहले

भरतपुर के छोटे से गांव खंडेवला में कोहराम मचा है और मानों लोगों के पांव केवल एक ही घर की ओर बढ़ते चले जा रहे हों। उस घर हम भी पहुंचे तो कलेजा मुंह काे आ गया। मंजर शब्दों में बयां नहीं हो सकता क्योंकि घर के जिस आंगन ने भाइयों बड़ा होते देखा, शरारतों का गवाह रहा और आठ दिन पहले नई दुल्हनों का स्वागत किया, आज वो आंगन खाटों पर रखे भाइयों के शव से मानों दबा सा जा रहा है।

दरअसल, इस परिवार के एक साथ पांच बेटों की पहाड़ी थाना इलाके में कल रात सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई। इस कार हादसे में दो सगे भाई भी थे, जिसमें से बड़े भाई की हालत गंभीर है, छोटे भाई की मौत हो चुकी है। दोनों भाइयों की शादी 8 मई को दो बहनों के साथ हुई थी। मरने वालों में चार चचेरे-ममेरे भाई और एक भांजा था।

मृतक के परिजन आसिम खान ने बताया कि हरियाणा से एक रिश्तेदार आए थे। जिन्होंने नई कार खरीदी थी। कल शाम दुकान जाने की कहकर सभी भाई कार से 8 बजे के करीब घर से निकल गए। बहुत देर तक जब वे नहीं लौटे तो चिंता होने लगी। फोन लगाया तो एक ग्रामीण ने उठाया। वह बोला कि यहां एक्सीडेंट हुआ है, सब खत्म हो गया।

कार में इम्तियाज (20) और वासिम (18) सगे भाई भी थे। दोनों की 8 मई को दो बहनों से शादी हुई थी। इनकी शादी में ही पूरा परिवार जुटा था। हादसे में इम्तियाज गंभीर घायल हो गया, अलवर में उसका इलाज चल रहा है। वासिम की मौत हो गई। वासिम ने इसी साल 10 वीं क्लास पास की थी। इम्तियाज व वासिम के पिता जमशेद खेती करते हैं। सभी मृतकों के परिवार आर्थिक तौर पर कमजोर थे। इसके अलावा कार में इम्तियाज का भांजा आशिक भी था जिसकी मौत हो गई। चचेरे भाइयों फरदीन, अरबाज और परवेज की भी मौत हो गई।

आंगन में सभी भाइयों के शव रखे गए तो घर में कोहराम मच गया। इसी घर में 8 दिन पहले शादी की शहनाई गूंजी थी।
आंगन में सभी भाइयों के शव रखे गए तो घर में कोहराम मच गया। इसी घर में 8 दिन पहले शादी की शहनाई गूंजी थी।

मृतक के ताऊजी के लड़के आसिम खान ने बताया- बुधवार रात घर के 6 बच्चे पास की दुकान पर जाने की कहकर निकले थे। घर में शादी के शामिल होने के लिए रिश्तेदार आए हुए थे। युवक हरियाणा से आए एक रिश्तेदार की कार ले गए थे। बाद में पता चला की बच्चों का एक्सीडेंट हो गया है, पहाड़ी अस्पताल में ले जाया गया है, हालत गंभीर है। सभी परिजन पहाड़ी अस्पताल पहुंचे और सभी को अलवर अस्पताल लेकर गए। जहां पांच युवकों ने एक के बाद एक दम तोड़ दिया। इम्तियाज की हालत भी नाजुक है।

गले में टॉवल डाले दोनों भाई। इनमें से एक की मौत हो गई, दूसरा अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती है।
गले में टॉवल डाले दोनों भाई। इनमें से एक की मौत हो गई, दूसरा अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती है।

गांव में होगा तीन युवकों का अंतिम संस्कार
अरबाज, परवेज और वासिम की शव का अंतिम संस्कार उनके गांव खंडेवला में किया गया और वासिम के बहन के लड़के आशिक के शव को उसके घर किशनगढ़ लेकर जाया गया। वहीं, आलम के शव को सोलाका गांव लेकर जाया जाएगा।

पांच में से दो सगे भाइयों की शादी में पूरा परिवार जुटा था।
पांच में से दो सगे भाइयों की शादी में पूरा परिवार जुटा था।

कार में दो सगे भाई इम्तियाज और वासिम थे। इसके अलावा उनकी बहन का लड़का आशिक (17) निवासी किशनगढ अलवर, मामा का लड़का भाई आलम (19) सोलाका भरतपुर, इनका चचेरा भाई अरबाज (22) साल, खंडेवला और चचेरा भाई परवेज (16) खंडेवला की मौत हो गई।

रिपोर्ट- पुष्पेंद्र पाठक, पहाड़ी, भरतपुर

ये भी पढ़ें-
बोलेरो ने कार को उड़ाया, 5 बेटों की मौत:8 दिन पहले हुई थी दो भाइयों की शादी; नई कार से घूमने निकले थे