पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पक्षियों की मौतों का सिलसिला जारी:भरतपुर में उल्लू सहित 9 पक्षियों की मौत, बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं; भोपाल भेजे गए सैंपल्स की रिपोर्ट निगेटिव आई

भरतपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भरतपुर। भरतपुर में पक्षियों की मौतें लगातार हो रही हैं लेकिन राहत की बात है कि अभी तक बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है। विभाग सभी वॉटर बॉडीज पर निगाह बनाए हुए है। - Dainik Bhaskar
भरतपुर। भरतपुर में पक्षियों की मौतें लगातार हो रही हैं लेकिन राहत की बात है कि अभी तक बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है। विभाग सभी वॉटर बॉडीज पर निगाह बनाए हुए है।

मृत पक्षियों के मिलने का सिलसिला जारी है। बुधवार को उल्लू सहित 9 पक्षी मृत पाए गए। इससे पशुपालन विभाग चिंतित है। किंतु अभी तक भरतपुर में बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है। पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. नगेश चौधरी ने इन्हें सामान्य मौत माना है, किंतु विभाग सतर्क है और केवलादेव राष्ट्रीय पक्षी उद्यान सहित जिले की सभी वाटर बाॅडी पर निगाह रखे हैं।

साथ ही बर्ड फ्लू की दृष्टि से सबसे संवेदनशील वारहेडेड गूज का बीट कलेक्शन लगातार किया जा रहा है। संयुक्त निदेशक डॉ. नगेश चौधरी ने बताया कि पोल्ट्री फार्म संचालकों से लगातार संपर्क हैं। अभी तक कहीं भी मुर्गियों की मरने अथवा किसी भी जगह दो या उससे अधिक पक्षियों के शव नहीं मिले हैं।

इसके अलावा पिछले दिनाें भोपाल भेजे गए सैंपलों की जांच नेगेटिव आई है। इसलिए बर्ड फ्लू की आशंका नहीं है। बुधवार को बयाना के बरैठा और नगला तीखा से कबूतर, कुम्हेर के गांव मुकंदपुरा, उच्चैन के खरैरा तथा रूपवास के औडेल गद्दी से कौवा मृत मिला है। साथ ही नगला जटमासी से बगुला, भरतपुर किशोरी महल से उल्लू तथा मलाह गांव से चिड़िया मृत पाई गई।

फिर भी चिकन कारोबार प्रभावित
इधर, बर्ड फ्लू के कारण चिकन कारोबार पर असर आया है। चूंकि यह पीक सीजन है। इसलिए कारोबारी, विशेषकर पोल्ट्री फार्म संचालक चिंतित हैं। कारोबारियों का कहना है कि 30 प्रतिशत तक सेल प्रभावित हुई है। कारोबारी रशीद ने बताया कि कोरोना काल में सुस्ती के बाद अब मौसम ठंडा होने के बाद कुछ सेल आई थी, लेकिन जब से बर्ड फ्लू का हल्ला हो रहा है तब से चिकन की डिमांड धीरे-धीरे से कम हो रही है।

तीन-चार दिन में ही करीब 30 प्रतिशत सेल कम हुई है। उल्लेखनीय है कि जिले में 95 पोल्ट्री फार्म संचालित है, जिनमें लगभग 3 लाख 35 हजार मुर्गियां हैं। इनमें तीन को छोड़ बाकी सब ब्रायलर हैं। जिले की कामां, पहाड़ी एवं नगर तहसीलों में सबसे अधिक पोल्ट्री फार्म संचालित हैं। इधर, पशुपालन विभाग के पोल्ट्री फार्मों के संचालकों से सतत संपर्क में हैं। तहसील मुख्यालय एवं नगर निगम क्षेत्र सहित 14 रैपिड रेस्पॉन्स टीम का गठन किया है।

रिपोर्ट: प्रमोद कल्याण

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser