• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • After Recession And Son's Inter Cast Marriage With Corona, There Was Depression About Property, Suicide Inside The Shop, Another Person Was Addicted To Alcohol, Hanged Himself To Death From The Door Of The House

भरतपुर में एक ही दिन में दो आत्महत्या:एक ने दुकान में फंदा लगाया, बेटे की इंटर कास्ट शादी के बाद प्रॉपर्टी को लेकर डिप्रेशन में था, दूसरा घर की चौखट पर लटका, शराब का आदी था

भरतपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भरतपुर में गुरुवार को दो लोगों ने आत्महत्या कर ली। एक बुजुर्ग फोटोग्राफर था जिसने दुकान के पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली। वह अपने छोटे बेटे की इंटर कास्ट शादी से नाराज था और संपत्ति के बटवारे की बात पर डिप्रेशन में था। दूसरा व्यक्ति शराब की लत से खुद भी परेशान था। लत छूटी नहीं, लेकिन उसने घर की चौखट पर लटककर जीवन खत्म कर लिया।

पहला मामला शहर के मथुरा गेट थाने का है। शहर के स्वर्ण जयंती नगर में रहने वाले 65 साल के छगन वर्मा सुबह करीब 4 बजे अपने घर से घूमने के लिए निकले थे। छगन रोज सुबह वॉक के लिए जाते थे। वे सुबह करीब साढ़े 6 बजे तक लौट आते थे, लेकिन गुरुवार को वह सुबह 7 बजे तक घर नहीं पहुंचे। छगन लाल को उनका बेटा गौरव ढूंढने के लिए उसने अस्पताल, पार्क और अपने पिता के सारे दोस्तों से संपर्क करता रहा, लेकिन पिता का कुछ पता नहीं लगा।

घर पर नहीं मिली दुकान की चाबी तो पिता के वहां होने का अंदाजा लगा

जब सुबह दुकान खोलने का समय हुआ तो गौरव दुकान खोलने के लिए घर में चाबी लेने गया, लेकिन उसे चाबी नहीं मिली। उसने सोचा कि नवरात्र की वजह दुकान की सफाई को लेकर उसके पिता दुकान की चाबी लेकर जल्दी चले गए हैं। वे दुकान की साफ़ सफाई कर रहे होंगे। गौरव जब दुकान पर पहुंचा तो उसे दुकान के दोनों सेंटर लॉक खुले हुए मिले। जिस पर गौरव को लगभग कन्फर्म हो गया कि हो न हो, पिता दुकान के अंदर ही हैं। गौरव ने जब दुकान की शटर उठाई तो उसके पिता छगन लाल पंखे से रस्सी बांध लटके हुए थे। तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। पिता को लटका देख उसने मथुरा गेट थाने को सूचित किया। पुलिस थोड़ी देर में ही मौके पर पहुंची और शव को आरबीएम अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। बाद में पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंपा गया।

यह थी मौत की वजह

छगन लाल की मौत की वजह सामने आ रही है की वह कोरोना में शादियों की बुकिंग कैंसिल होने से मंदी में आने और छोटे बेटे सौरभ के साल 2007 में इंटर कास्ट शादी कर जयपुर में रहने के बाद सौरभ ने प्रॉपर्टी के लिए केस दायर करने को लेकर डिप्रेशन में थे। हालांकि छगन लाल ने छोटे बेटे सौरभ को प्रॉपर्टी से बेदखल कर दिया था। और वह अपने बेटे द्वारा किये गए केस को भी जीत गए थे।

शराब ने ली जान

दूसरी घटना अटलबंध थाना इलाके के हीरादास का नगला की है। जहां 35 साल के अशोक शराब पीने का आदी था। उसकी पत्नी चूड़ियों का व्यवसाय करती है। जिसके लिए वह आज सुबह फिरोजाबाद अपने छोटे बेटे के साथ गई थी और अशोक बस में बैठाकर आया था। घर पर उसका 10 साल का बड़ा बेटा था। जो खेलने चला गया। पीछे से अशोक ने गुरुवार सुबह 8 बजे घर की चौखट से कपड़ा बांधकर फांसी लगा ली। वहीं पास में शराब का पव्वा भी पड़ा था। अटलबंध थाना एसएचओ राजेंद्र शर्मा ने बताया कि मृतक के शव का आरबीएम अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

खबरें और भी हैं...