पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कामां के उदाका गांव का मामला:पत्नी को पीहर छोड़ने से नाराज ससुरालीजनों ने दामाद को पीटा, बंधक बनाकर की मारपीट, मामला दर्ज

कामां13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

थाने के गांव उदाका निवासी अरशद ने अपने ससुराली जनों के द्वारा अपहरण कर ले जाने व बंधक बनाकर जमकर मारपीट करने व आठ लाख रुपए शादी का खर्चा वापसी मांगने का मामला ससुराली जनों के खिलाफ दर्ज कराया है।

पुलिस ने बताया कि कामां थाने के गांव उदाका निवासी अरशद पुत्र हयात मेव ने तहरीर रिपोर्ट में कहा है कि 12 सितम्बर को करीब पांच बजे एक बोलेरो गाड़ी में सवार उसके ससुराली जन जुरहरा थाने के गांव थलचाना निवासी उसका ससुर आस मोहम्मद पुत्र समसूद्दीन, साला निजामुद्दीन, खुर्शीद पुत्र दलशेर, रोबिन पुत्र खुर्शीद, सिराजू पुत्र सहजमल मेव उसका अपहरण कर गांव थलचाना ले गए और एक कोठरे में बंद कर उसकी बिजली के तारों व रस्सियों से हाथ पैर बांधकर मारपीट की।

दो दिन तक उसको एक कमरे में बंधक बनाकर रखा तथा उनकी पुत्री संजीदा की शादी में खर्च हुए आठ लाख रुपए वापसी करने की मांग की। उसको अचेत अवस्था में जुरहरा थाने के समीप पटक कर चले गए। पुलिस ने घटना का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

वहीं पीडित अरशद ने बताया कि उसकी शादी वर्ष 2012 में संजीदा पुत्री आस मोहम्मद थलचाना के साथ हुई थी। संजीदा मानसिक रूप से विक्षिप्त होने के चलते उसका इलाज आगरा अस्पताल में कराने के बाद उसके पीहर थलचाना में छोड़कर आ गया था। इसी बात से नाराज़ होकर सुसराल वालों ने मेरा अपहरण करके बंधकर बनाकर मारपीट की है। बाद में ससुरालीजनों के चंगुल से छूटने के बाद अरशद ने पुलिस को सूचना दी।

खबरें और भी हैं...