पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छठ महापर्व:उगते सूर्य को अर्घ्य देकर मांग भरी, जीवन को रोशन करने का संकल्प

भरतपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भरतपुर। छठ पूजा करते हुए समाज के लोग।
  • चार दिवसीय छठ पर्व सम्पन्न, अंतिम दिन सुहागन महिलाओं ने एक दूसरे की मांग भरी

पूर्वांचल वासियों का चार दिवसीय लोक पर्व छठ पूजा शनिवार को उगते सूरज को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हो गया। इस अवसर पर महिलाओं ने मस्तक से नाक तक सिंदूर लगाया और सूर्यदेव को अर्घ्य ताकि पति और परिवार सूरज के समान जीवन में रोशन रहे। अलसुबह ही सिमको स्थित कृत्रिम घाट पर पूर्वांचलवासी परिवार के साथ पहुंचे। व्रती महिलाओं ने सुबह करीब 6.35 पर सूर्य उदय को सूप पर अर्घ्य दिया।

उसके बाद सभी सुहागन महिलाओं ने एक दूसरे के मांग में पूरी सिंदूर भरकर अखण्ड सुहाग की कामना की। साथ ही दर्शन देहू न अपार हे छठी मैया उग हे सूरज देव अरघ के बेरिया.. सुन ल अरजिया हमार हे छठी मैया आदि गीत भी गाए। घाट पर श्रद्धा और आस्था का अद्भुत संगम दिखाई दिया। बाद में व्रती महिलाओं ने 36 घंटे का निर्जला व्रत तोड़ा और एकांत में भोजन किया। जो महिलाएं सिमको घाट पर नहीं जा पाई उन्होंने घरों में सिंदूर लगाया। लोक मान्यता है कि जो स्त्री अपने मांग के सिंदूर को बालों में छिपा लेती है। उसका पति समाज में भी छिप जाता है। उसके पति का सम्मान कम हो जाता है।

इसलिए यह कहा जाता है कि सिंदूर लंबा और ऐसे लगाएं कि सभी को दिखे कि यह सिंदूर माथे से लगाना आरंभ करके और जितनी लंबी मांग हो उतना भरा जाना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि यदि स्त्री के बीच मांग में सिंदूर भरा है और सिंदूर भी काफी लंबा लगाती है, तो उसके पति की आयु लंबी होती है। इस मौके पर त्रिभुवन सिंह, उमाशंकर, नंदकिशोर, सुमित, अनूप, किरण, नीतू आदि ने व्यवस्थाओं को संभाला।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें