• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • Before The Cleanliness Survey, The Bodies Will Get A Challenge Of 185 Marks, The Ranking Has Increased By 1500 Numbers, Now The Examination Of 7500

स्वच्छता सर्वेक्षण का आगाज:स्वच्छता सर्वेक्षण से पहले निकायाें को मिलेगा 185 अंकाें का चैलेंज, रैंकिंग 1500 नंबर बढ़ी, अब 7500 की परीक्षा

भरतपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रथम स्थान पर आने वाले जिले को मिलेगा 5 लाख रुपए का इनाम, कस्बों की भी होगी रैंकिंग - Dainik Bhaskar
प्रथम स्थान पर आने वाले जिले को मिलेगा 5 लाख रुपए का इनाम, कस्बों की भी होगी रैंकिंग

केंद्र सरकार की ओर से चलाए जा रहे स्वच्छता सर्वेक्षण का आगाज स्थानीय निकायों में हो गया है। पहली बार सरकार नगर निकायों के बीच स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज प्रतियोगिता भी करवाने जा रही है। प्रतियाेगिता की क्रियान्विति के आधार पर ही निकायों को स्वच्छ सर्वेक्षण में अलग से अंक दिए जाएंगे। इस चैलेंज के लिए निकायों को कमेटी गठन से लेकर स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ाने समेत विभिन्न कार्य करवाने पर अलग-अलग अंक मिलेंगे। इस बार स्वच्छता का सर्वेक्षण 6000 की बजाय 7500 अंक का होगा। सर्वेक्षण के पहले इसमें 185 अंकों की स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज प्रतियोगिता हाेगी।।सरकार ने स्वच्छ सर्वेक्षण में बड़ा बदलाव किया है। शहरों और कस्बों की रैंकिंग ही नहीं बल्कि जिला रैंकिंग भी करवाई जाएगी।

प्रथम आने वाले जिले को मिलेगा 5 लाख का इनाम
सर्वेक्षण में पहले तीन स्थानों पर आने वाले शहर को स्वच्छ सर्वेक्षण अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। वहीं प्रथम स्थान पर रहने वाले जिले को 5 लाख, दूसरे को 2.50 लाख, तीसरे को 1.50 लाख, चौथे को 1 लाख व पांचवें स्थान पर रहने वाले को 75 हजार का नकद इनाम दिया जाएगा।

कार्यों में मिलेंगे अलग-अलग अंक

  • स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज प्रतियोगिता में निकाय स्तर पर कमेटी गठन के 10 अंक
  • चैलेंज में आवेदन प्राप्त करने के लिए सोशल मीडिया 10 अंक
  • शिक्षण संस्थान में कार्यशाला के 10 अंक
  • व्यापार संघ की बैठक के 10 अंक
  • विभिन्न संगठनों की कार्यशाला के 10 अंक
  • संगठनों की ओर से प्रचार के 40 अंक
  • आवेदन के लिए हैल्प डेस्क लगाने पर 30 अंक
  • उत्कृष्ट आवेदन को सम्मानित करने पर 25 अंक मिलेंगे।
खबरें और भी हैं...