करौली, जोधपुर के बाद भरतपुर में भिड़े दो समुदाय:कांच की बोतलों से ताबड़तोड़ हमला; पत्थरबाजी भी, 31 गिरफ्तार

भरतपुर5 महीने पहले

राजस्थान में करौली और जोधपुर में हुए दंगों की आग अभी ठंडी नहीं हुई है कि भरतपुर में सोमवार देर रात दो समुदाय भिड़ गए। दोनों पक्षों की ओर से पत्थरबाजी के बाद करीब आधे घंटे तक कांच की बोतलें फेंकी गईं। झगड़े की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया। इस घटना में एक व्यक्ति घायल हुआ है जिसे आरबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना रात करीब 11 बजे शहर के मथुरा गेट इलाके की है। यहां बुद्ध की हाट में दो समुदायों में आपसी कहासुनी के बाद विवाद हो गया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि विवाद का कारण अभी स्पष्ट नहीं है।

घरों से कांच की बोतलें और पत्थर बरामद हुए हैं।
घरों से कांच की बोतलें और पत्थर बरामद हुए हैं।

31 लोग गिरफ्तार
पुलिस के अनुसार दोनों पक्षों के करीब 31 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिला पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने बताया कि पूरी सड़क पर कांच और पत्थर बिखरे हुए थे। जिन्हें पुलिस ने साफ करवा दिया। इस इलाके में कई बार दोनों समुदाय के बीच झगड़ा हो चुका है। पूरे इलाके में लोगों को पूछताछ की जा रही है। फिलहाल इलाके में शांति बनी हुई है।

रातभर पुलिस अधिकारी गश्त पर रहे। आज सुबह भी अधिकारियों ने दोनों पक्षों से बात की है।
रातभर पुलिस अधिकारी गश्त पर रहे। आज सुबह भी अधिकारियों ने दोनों पक्षों से बात की है।

5 थानों की पुलिस तैनात
मौके पर पांच थानों का जाब्ता लगाया गया है। रात को पुलिस के बड़े अधिकारी सहित जिला कलक्टर और डीसी भी मौके पर पहुंचे। मंगलवार सुबह भी प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और सुरक्षा व्यवस्था देखीं। झगड़े वाले इलाके में 100 से अधिक सुरक्षा जवानों को तैनात किया गया है।

मंगलवार सुबह इलाके में बैरिकेडिंग की गई।
मंगलवार सुबह इलाके में बैरिकेडिंग की गई।

10 सालों से चली आ रही है रंजिश
पुलिस के अनुसार 2013 में दोनों पक्षों को लेकर विवाद हुआ था। इसमें एक पक्ष के 5 लोगों को आरोपी बनाया गया था। सोमवार को जेल से बाहर निकले एक पक्ष के लोगों जब बुद्धा हाट पहुंचे तो अचानक पथराव शुरू हो गया। इसके बाद करीब आधे घंटे तक पत्थरबाजी और कांच की बोतलों से एक-दूसरे पर हमला होता रहा।