सांसों का सौदा:अस्पताल के ट्रॉली पुलर ने खाली हुए ऑक्सीजन सिलेंडर को बदलने के मांगे 4 हजार रुपए, गिरफ्तार

भरतपुर6 महीने पहले
पकड़ा गया तो चेहरा छुपाता रहा आरोपी।

कोरोनाकाल में जरुरत के सामान की कालाबाजारी की खबरों के बीच अब सांसों के व्यापार का मामला भी सामने आया है। यहां भरतपुर जिले के आरबीएम अस्पताल में ट्रॉली पुलर 4 हजार रुपए में ऑक्सीजन सिलेंडर बदलने के मामले में गिरफ्तार किया गया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। इस काम में ट्रॉली पुलर के साथ-साथ और कौन लोग शामिल हैं। इसकी भी जांच की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि आरबीएम अस्पताल में एक 43 साल की राधा रानी नाम की महिला को भर्ती किया गया था। जो शहर के ही राजेंद्र नगर की रहने वाली हैं। महिला को सांस लेने में हुई परेशानी के बाद अस्पताल लाया गया था। इस दौरान देर रात महिला की ऑक्सीजन गैस खत्म होने लगी। तभी महिला के बेटे करन ने अस्पताल में काम कर रहे कर्मचारी सिलेंडर बदलने के लिए कहा। जिस पर ट्रॉली पुलर प्रवेंद्र ने करन से 4 हजार रुपए मांगे।

मां की हालत देखते हुए 4 हजार में बदलवाया ऑक्सीजन सिलेंडर

इस पर करन ने अपनी मां की नाजुक हालत देखते हुए 4 हजार में सौदा तय कर दिया। साथ ही 2 हजार 500 रुपए दे दिए। इस पर अस्पताल के कर्मचारी प्रवेंद्र ने ऑक्सीजन सिलेंडर बदल दिया। अस्पताल में इस तरह के हालत देख करन से रहा नहीं गया और उसने इसकी शिकायत अस्पताल के अधिकारियों से कर दी।

कलेक्टर ने करवाई जांच

अधिकारियों द्वारा कलेक्टर को मामले से अवगत करवाया गया। जिस पर आरोपी ट्रॉली पुलर की छानबीन शुरू की गई। पुलिस को भी मौके पर बुलाकर आरोपी ट्रॉली पुलिस प्रवेंद्र को गिरफ्तार कर लिया गया।

मामले पर अतिरिक्त कलेक्टर बीना महावर का कहना है कि आज जिला आरबीएम अस्पताल का दौरा किया गया था। जिस पर सामने आया कि एक ट्रॉली पुलर मरीजों को ऑक्सीजन का सिलेंडर बेच रहा है। जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका है। फिलहाल पूछताछ जारी है।

खबरें और भी हैं...