चेयरमैन जो महिलाओं को पहनाती है चूड़ियां:जब भी समय मिलता है तो पुश्तैनी काम संभालती हैं, सरल व्यवहार पहचान

भरतपुर5 महीने पहले

भरतपुर के उच्चैन नगर पालिका की ऐसी चेयरमैन महिला जो की चेयरमैन बनने के बाद भी दुकान संभाल रही है। चेयरमैन महिला की चूड़ियों की दुकान है। वह पहले सरपंच भी रह चुकी हैं, जनप्रतिनिधि के पद पर रहने के बाद भी उन्होंने अपना काम नहीं छोड़ा और आज भी वह महिलाओं को चूड़ियां पहनाती हैं। हालांकि दुकान पर उनके पति भी बैठते हैं। वह चूड़ी वाली आंटी के नाम से इतनी लोकप्रिय हैं की उन्हें इसे लोकप्रियता ने विमला राजौरा को चेरमैन बना दिया। विमला राजौरा के पति के यहां तीन पुश्तों से चूड़ियां बेचने का ही काम होता है।

कौन है विमला राजौरा
उच्चैन कस्बे की रहने वाली विमला राजौरा फिलहाल उच्चैन नगर पालिका में चेयरमैन के पद पर तैनात हैं। जो इससे पहले सरपंच भी रह चुकी है। चेयरमैन राजौरा कि उच्चैन कस्बे के अंदर चूड़ियों की दुकान है। उनके पास पूरे इलाके की महिलाएं चूड़ियां पहनने के लिए आती है। विमला राजौरा का व्यवहार इतना सरल है कि इलाके की सभी महिलाएं हर चुनाव में उनको सपोर्ट करती हैं। यही वजह है कि इलाके की सभी महिलाओं के सहयोग से विमला राजौरा एक बार सरपंच रह चुकी हैं और अब नगरपालिका के चेयरमैन है।

क्या कहना है विमला राजौरा का
विमला राजौरा ने बताया कि मेरे दो बेटे हैं, और दो बेटियां हैं और सभी की शादी हो चुकी हैं। हमारी तीन पुश्तों से चूड़ियों का काम है जो हमारे परिवार के पालन पोषण का एकमात्र जरिया है। इलाके की ज्यादातर महिलाएं हमारी दुकान पर चूड़ियां पहनने के लिए आती हैं। यहां की महिलाओं को मेरा व्यवहार बेहद पसंद आता है इसलिए वह हमेशा हर चुनाव में मेरा समर्थन करती हैं । इलाके की महिलाओं का प्यार है कि उनकी वजह से मैं पहले सरपंच रह चुकी हूं और अब नगरपालिका के चेयरमैन हूं। कस्बे के विकास के लिए समर्पण भाव से काम कर रही हूं। जब समय मिलता है तो दुकान पर आकर महिलाओं को चूड़ियां पहनाने का काम भी संभालती हूं। जो हमारा पुश्तैनी काम है।