पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सावों पर कोरोना का साया:शादियों में 100 मेहमानों की बंदिश से होटलों का रुख करने लगे आयोजक, चिंतित मैरिज गार्डन संचालकों की डिमांड- संख्या 200 की जाए

भरतपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक
  • भरतपुर में 60 से अधिक मैरिज गार्डन, 10 हजार से ज्यादा लोग जुड़े हैं रोजगार से

कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रशासन द्वारा मेहमानों की संख्या सीमा 100 किए जाने से मैरिज गार्डन संचालक चिंतित हैं। संख्या कम होते ही लोग अब मैरिज गार्डन के बजाए होटलों का रुख कर रहे हैं। जो पहले से बुकिंग हो चुकी है, उनमें से भी कुछ पर संकट मंडरा रहा है। मैरिज गार्डन संचालकों ने प्रशासन से मांग की है कि मेहमानों की संख्या 200 किया जाए।

इंडस्ट्रीज को बचाने की जिम्मेदारी

भरतपुर मैरिज होम समिति के सचिव जितेंद्र गोयल का कहना है कि अधिकांश मैरिज गार्डन की क्षमता एक बार में 500 से 1000 मेहमानों को साेशल डिस्टेंस के साथ कार्यक्रम की है। ऐसे में मेहमानों की सीमा बढ़ाकर 200 की जानी चाहिए, क्योंकि यह वेडिंग इंडस्ट्रीज को बचाने के लिए बहुत जरूरी है।

हुई मीटिंग

इस संबंध में बुधवार को वेडिंग कारोबार से जुड़े संगठनों ने मीटिंग की तथा जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया और मेहमानों की संख्या 200 किए जाने तथा इसमें शादी समारोह की तैयारी में जुटे हलवाई, डेकोरेटर्स, वेटर्स, कैटरर्स को शामिल नहींं किए जाने की मांग की है।

बढ़ी परेशानी

बढ़ते कोरोना संक्रमण ने शादी वाले घरों की परेशानी और बढ़ा दी है। प्रशासन 100 मेहमानों की संख्या बढ़ाने की स्थिति में नहीं है। दूसरी तरफ, मैरिज गार्डन में इतने कम मेहमानों के साथ शादी करने को लोग तैयार नही हैं। ऐसी स्थिति में मैरिज गार्डन, लाइट, टेंट, हलवाई सभी को धंधा खत्म होने की चिंता सताने लगी है। इसी कारण, बुधवार को भरतपुर मैरिज होम समिति की बैठक की। समिति के अध्यक्ष सतीशचंद ने कहा कि प्रशासन यदि मैरिज गार्डन में मेहमानों की संख्या को लेकर पुनर्विचार नहीं करता है, तो ऐसी स्थिति में हमारा कारोबार ठप हो जाएगा। तब हमारे पास काम बंद करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं रहेगा।

पिछले साल भी हुआ था नुकसान

पिछला साल का भी सीजन पिट गया था, जबकि विकास, सफाई, अग्निशमन, भू उपयोग, पंजीयन, बिजली सहित कई प्रकार टैक्स हमने चुकाए हैं। इसलिए प्रशासन को हमारी चिंताओं की ओर ध्यान देना चाहिए। नई बुकिंग आ नहीं रही है और जो लोग गार्डन बुक करा चुके हैं और मेहमान कम होने के कारण कुछ बुकिंग रद्द करा रहे हैं। ऐसे लोगों को जमा पैसा आखिर कैसे वापस कर दें। भरतपुर में 60 से अधिक मैरिज गार्डन हैं। शादियों के सीजन में सीधे तौर पर 10 हजार से ज्यादा लोगों का रोजगार जुड़ा हुआ है।

रामनवमी पर अबूझ सावा, अप्रैल में जोरदार बुकिंग
अप्रैल से एक बार फिर शादियों के मुहूर्त शुरू हो रहे हैं। अप्रैल से जुलाई तक 35 मुहूर्त हैं। 25 अप्रैल को बड़ा मुहूर्त है और बड़ी संख्या में शादियां हैं। लग्न, दावत आदि के आयोजन 22 से प्रारंभ हो जाएंगे। इसके अलावा रामनवमी 21 अप्रैल को भी अबूझ सावा है।

अप्रैल में 22, 24, 25, 26, 27, 28, 29 और 30, मई में 1, 2, 7, 8, 9, 12, 13, 14, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 25, 26, 27, 28, 29 और 30, जून में 3, 4, 5, 16,18, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 26 और 30, जुलाई में 1, 2, 7, 13 और 15 का सावा रहेगा।

इसके बाद देवशयन को चले जाएंगे और नवंबर में विवाह के लिए 3 माह के लंबे अंतराल के बाद 9 शुभ मुहूर्त आएंगे। नवंबर में 15, 16, 20, 21, 22, 27, 28, 29 और 30 तथा दिसंबर में 1, 2, 6, 7, 11, 12 और 13 काे सावा है।

(रिपोर्ट: प्रमोद कल्याण)

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

और पढ़ें