कार्रवाई:टूटे फैरोकवरों के कारण दुर्घटना का अंदेशा, शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं

भरतपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्टेडियम नगर और नुमाइश मैदान में प्रवेश के मुख्य द्वार हैं बदहाल

स्टेडियम नगर एवं नुमाइश मैदान में प्रवेश करने वाले द्वार के ठीक नीचे गहरे नाले पर रखे सभी 8 फैरोकवर बीते करीब एक साल से टूटे पड़े हैं। इस कारण यहां से आवागमन करते समय दुर्घटना होने का अंदेशा बना रहता है। वहीं लोगों को अन्य रास्तों से घूमकर स्टेडियम नगर एवं नुमाइश मैदान में प्रवेश करने को मजबूर होना पड़ रहा है।

स्टेडियम नगर में रहने वाले तेजेंद सिंह, दलवीरसिंह, सत्यप्रकाश, मोहन सिंह आदि का कहना है कि लोहागढ़ स्टेडियम एवं नुमाइश मैदान के मध्य बनी दीवार के पास से स्टेडियम नगर के लिए मुख्य रास्ता है। जो नुमाइश मैदान में होकर जा रहा है। जिसमें प्रवेश करने के लिए एक द्वार बना हुआ है, द्वार के ठीक सामने एक गहरा नाला है जो करीब 6 फुट गहरा एवं 4 फुट चौड़ा है।

इस नाले पर रखे करीब 8 फेरोकवर करीब एक साल से टूटे पड़े हैं। नाले की दीवार भी क्षतिग्रस्त हो चुकी है, जिसके कारण ये फेरोकवर ठीक से नहीं टिक पाते जैसे ही कोई वाहन गुजरता है तो ये क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। इसलिए यह मार्ग पूरी तरह से अवरुद्ध है। कलौनी के सैकड़ों लोगों को रोजाना अन्य रास्तों से मजबूरन घूम कर जाना पड़ रहा है।

उनका कहना है कि कई बार नगर निगम से उक्त मार्ग स्थित नाले पर फेरोकवर लगाए जाने की गुहार लगाई जा चुकी है, लेकिन फेरोकवर नहीं बदले गए हैं। यहां कई छुटपुट दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं, लेकिन समस्या के समाधान की दिशा में कार्यवाही नहीं की जा रही है।

खबरें और भी हैं...