बृज विवि की खेल प्रतियाेगिताएं शुरू:149 कॉलेजों का शुल्क जमा नहीं हुआ, खेलने से रह गए छात्र

भरतपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
क्रास कंट्री दाैड़ में शामिल प्रतियाेगी। - Dainik Bhaskar
क्रास कंट्री दाैड़ में शामिल प्रतियाेगी।

कोरोना के कारण 2 साल के अंतराल बाद गुरुवार को महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों की खेलकूद प्रतियोगिताएं शुरू हो गईं। पहले दिन क्रॉस कंट्री दौड़ कुम्हेर के रतनसिंह पीजी कॉलेज में कराई गई। इसमें 11 कॉलेजों के 60 खिलाड़ी शामिल हुए। जबकि भरतपुर/धाैलपुर के 160 कॉलेज में से 149 ने खेल शुल्क जमा ही नहीं कराया।

इसलिए उनके स्टूडेंट्स इस प्रतियोगिता में शामिल नहीं हो सके। विश्वविद्यालय की ओर से इन्हें चेतावनी पत्र भी दिया गया। लेकिन, कॉलेज संचालकों ने ध्यान ही नहीं दिया। कुलपति प्राे. आरकेएस धाकरे ने बताया कि खेल शुल्क जमा नहीं कराने वाले कॉलेजों की संबद्धता पर अब नए सिरे से विचार किया जाएगा। क्योंकि कॉलेज प्रबंधकों की लापरवाही से स्टूडेंट खेलों में हिस्सा नहीं ले पाते। इससे उनकी शिक्षा और करियर भी प्रभावित होता है।

इससे पहले अन्तर महाविद्यालय क्रॉस कंट्री दौड़ को खेल अधिकारी एवं पर्यवेक्षक निरंजन सिंह ने हरी झंडी दिखाई। इसमें एमएसजे कॉलेज विजेता और रतन सिंह पीजी कॉलेज उप विजेता रहे। छात्राओं की टीम में रितु, रिया, रजनी, पूजा, सोनिया, ममता और छात्रों की टीम में रामपाल, दीपक, पंकज, श्रीराम, ओमवीर और सतवीर सिंह शामिल रहे। शुक्रवार को तीरंदाजी, वेट लिफ्टिंग और महिला हॉकी प्रतियोगिता हाेगी।

समापन के मुख्य अतिथि कुलपति प्रो. धाकरे ने कहा कि अच्छी प्रतिभाओं को तराशने के लिए खेल प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा दिया जाएगा। विश्वविद्यालय में शीघ्र ही इनडोर हॉल का निर्माण कराया जाएगा। इससे कुश्ती, जूड़ो, कबड्डी, वॉलीबाॅल, हैंडबाॅल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, बास्केटबॉल की सुविधाएं विकसित होगी। विजेता खिलाड़ियों को मैडल पहनाकर सम्मानित भी किया।

आगे क्या.. कॉलेज प्रबंधन पर दबाव बनाएं स्टूडेंट्स
खेल शुल्क जमा नहीं कराने वाले कॉलेजों के खिलाड़ियों के पास अभी भी मौका है। उन्हें चाहिए कि वे अपने कॉलेज प्रबंधकों पर शुल्क जमा कराने का दबाव बनाएं। क्योंकि खेल प्रतियोगिताएं 25 दिसंबर तक चलेंगी। शुल्क जमा नहीं होने से वे प्रतियोगिता से वंचित होंगे। खेल अधिकारी निरंजनसिंह के मुताबिक शुल्क जमा कराने पर खिलाड़ी अन्य प्रतियोगिताओं में शामिल हो सकेंगे।

खबरें और भी हैं...