पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पहल:शादी के लिए सामान जुटाया, गिरवी रखी जमीन भी छुड़वा दी

भरतपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीग के गांव बहज में विधवा ने 30 हजार रुपए में रहन रख दी थी जमीन, महिला संगठन ने की मदद

पति की मौत के बाद हालातों से टूटे परिवार को पाले जाने का जिम्मा लिए बैठी विधवा महिला की पुत्रियों के विवाह समारोह में मदद के लिए आगे आए महिला संगठन प्रिय सखी ने सोशल मीडिया पर मुहिम चलाकर महिला की ओर से बेटियों की शादी में गिरवी रखी गई उसकी जमीन छुड़ाकर महिला को वापिस दिला दी।

क्षेत्र के अंतर्गत निकटवर्ती गांव बहज में करीब 15 दिन पूर्व आर्थिक रूप से कमजोर विधवा महिला की ओर से अपनी बेटियों की शादी के लिए 30 हजार रुपए में 4 साल के लिए खेत गिरवी रखने का जैसे ही महिला संगठन को पता चला तो महिला संगठन प्रिय सखी की संयोजिका मोनिका जैन के नेतृत्व में संगठन की महिलाओं ने बेटी की शादी में मदद के लिए घर-घर जाकर शादी विवाह के सामान के साथ पैसों का बंदोबस्त कर महिला की मदद कर शादी तो करा दी। लेकिन शादी के दिन ही संगठन ने महिला की ओर से गिरवी रखे गए खेत को छुड़ाने की ठान ली। संगठन ने सोशल मीडिया पर मुहिम चलाकर सहायता राशि एकत्रित कर महिला को सौंप दी। साथ ही रहन रखे गए खेत को भी छुड़ा लिया गया।

संगठन की ओर से मदद के लिए सोशल मीडिया पर किए गए मैसेज के बाद दिल्ली के रितेश बंसल ने 21 हजार रुपए बैंक में ट्रांसफर किए। साथ ही मदद की इस कड़ी में निरंजन टकसालिया, डॉ पदम सिंह, एडवोकेट अनिल गुप्ता, किशोर जैन, अनिल जैन, अनिल बंसल बंटी, राजेश चंसोरिया, सतीश सिंघल, पंकज भूषण आदि की ओर से भी जमीन को छुड़वाने के लिए राशि दान दी गई। 

राशि एकत्रित किए जाने के बाद संगठन की ओर से मंगलवार को आयोजित किए गए कार्यक्रम में संगठन की संयोजिका मोनिका जैन के नेतृत्व में अन्य अतिथियों ने महिला को 30 हजार की राशि के साथ तैयार कराए गए जमीन के कागजात महिला को सौंप दिए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें