गो तस्करों को पकड़ने के लिए सड़क पर बिछाई कीलें:टायर फटा तो 8 किमी तक रिम पर दौड़ाते रहे स्कॉर्पियो, पेड़ से टकराई गाड़ी; पीछा कर रही पुलिस ने 2 को दबोचा, सड़क पर निकलती रही चिंगारी

भरतपुरएक वर्ष पहले
गो तस्करों की गाड़ी से निकलती चिंगारियां।

भरतपुर में खोह थाना इलाके में बीती रात पुलिस को सूचना मिली की गो तस्कर जीप में गोवंश को भरकर ले जा रहे हैं। पुलिस ने तस्करों को रोकने के लिए सड़क पर लोहे की कील बिछा दी, लेकिन तस्कर उनके ऊपर से होकर गाड़ी को भगा ले गए। इससे उनकी गाड़ी के टायर फट कर बिखर गए और उसमें केवल रिम रह गई। पुलिस उनका पीछा करती रही, मगर तस्कर गाड़ी के तीन टायर फटने व रिम से आग की चिंगारी उठने के बावजूद भी उसे करीब आठ किलोमीटर तक दौड़ाते रहे। इसके बाद असंतुलित होकर गाड़ी एक पेड़ से टकराकर रुक गई। इसके बाद पुलिस ने दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। बाकी फरार हो गए जिनकी तलाश जारी है। इस एक्सीडेंट में घायल गिरफ्तार तस्करों को अस्पताल में भर्ती कराया है।

पुलिस के अनुसार देर रात सफेद स्कॉर्पियो में गोवंश भरकर ले जाने की सूचना के बाद एक टीम का गठन किया गया। वे भरतपुर के डीग की तरफ से इन्हें ले जा रहे थे। इस टीम ने धमारी मोड़ चौकी पर लोहे की कीलें बिछा दी गईं, ताकि यहां पहुंची गाड़ी आगे नहीं बढ़ पाए, लेकिन तस्कर उन कीलों के ऊपर सभी अपनी गाड़ी निकाल ले गए। हालांकि वे ज्यादा लंबी दूरी नहीं जा पाए। पुलिस ने अपनी प्लानिंग के मुताबिक कील पर से गुजरते ही उनका पीछा शुरू कर दिया था। गो तस्करों की गाड़ी आगे-आगे और पुलिस की पीछे-पीछे। यही सिलसिला चला। तस्करों की गाड़ी के पहियों में कील घुस चुकी थी, इसलिए तेजी से घूम रहे टायर एक-एक कर फटने लगे और तीन टायर पूरी तरह फटकर फैल गए। तस्कर केवल रिम पर अपनी गाड़ी को 8 किलोमीटर तक दौड़ाते रहे, लेकिन पुलिस लगातार पीछा करती रही। इसी दौरान कामां पहाड़ी बाइपास पर तस्करों की गाड़ी असंतुलित होकर पेड़ से टकराई। एक एक्सीडेंट में दो तस्कर घायल हो गए, लेकिन शेष गाड़ी में से उतरकर भाग गए। पुलिस ने पीछा भी किया, लेकिन उनको पकड़ नहीं पाई। दो तस्कर कुछ दूरी तक ही जा पाए थे, क्योंकि वे बुरी तरह घायल हो चुके थे। दोनों पकड़े गए।

घायल गो तस्कर सरफराज को अस्पताल लाई पुलिस।
घायल गो तस्कर सरफराज को अस्पताल लाई पुलिस।

सड़क पर व्हील से निकलती रही चिंगारी

असल में टायर फटकर अलग हो चुके थे, इसलिए तस्करों की गाड़ी केवल लोहे के रिम पर चलती रही। सड़क पर रिम की रगड़ से (घर्षण) से लगातार आग की चिंगारी निकलती रही, इसके बावजूद तस्करों ने गाड़ी नहीं रोकी।

हरियाणा के हैं दोनों तस्कर

गो तस्कर गाड़ी को छोड़ खेतों में भागे तो दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इनमें हरियाणा के नूंह निवासी सरफराज और हरियाणा के पलवल निवासी जमशेद शामिल हैं। सरफराज गाड़ी चला रहा था। गाड़ी पेड़ से टकराई तो सरफराज़ के सर में चोट आई है। पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया है। इसके अलावा तीन गो तस्कर फरार हो गए हैं, जिनका पता लगाने में पुलिस जुटी हुई है। पुलिस ने गाड़ी से 4 गोवंश को जब्त किया है।

खबरें और भी हैं...