पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गुर्जर आंदोलन में फूट:दूसरे गुट के नेता हिम्मत सिंह ने कहा-आंदोलन के नाम पर लोगों से पैसा ऐंठ रहे हैं बैंसला और उनका बेटा

भरतपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेलमार्ग भी 4 दिन से बंद, साथ ही रोडवेज के हिंडौन, करौली डिपो पर बसें भी नहीं चल पा रही
  • छह दिनों से इंटरनेट बंद होने के कारण बच्चों की पढ़ाई, वर्क फ्राम वाले लोगों को भी परेशानी

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते पीलूपुरा स्थित रेलवे ट्रैक पर पांचवें दिन भी कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला समर्थक गुट का कब्जा बना रहा। लेकिन,अब राजस्थान के गुर्जर आरक्षण आंदोलन में अब मतभेद सामने लगे हैं। नहरा क्षेत्र के पंच-पटेलों के गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने बुधवार को कर्नल किरोड़ी बैंसला और उनके पुत्र विजय पर बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों रुपए ऐंठने के आरोप लगाए। गुर्जरों के इस गुट ने कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला से आंदोलन समाप्त कर ट्रैक खाली करने की अपील भी की।

पंच-पटेलों के गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने कर्नल बैंसला ट्रस्ट का अकाउंट सार्वजनिक किए जाने की मांग करते हुए कहा कि बेरोजगारों से लिया पैसा वापस नहीं करना पड़े, इसीलिए बैंसला नए सिरे से समझौता लिखवाने की मांग कर रहे हैं। इस आरोप पर कर्नल बैंसला के पुत्र विजय का कहना है कि फाउंडेशन ट्रस्ट से गरीब शहीद परिवारों को हर माह 6000 रुपए दिए जाते हैं। उनके ऊपर लगाए गए सारे उपाय निराधार हैं।

आईजी और कलेक्टर से बयाना में की मुलाकात
बयाना में कैंप के दौरान बुधवार शाम को गुर्जर समाज के पंच-पटेलों ने जिला कलेक्टर नथमल डिडेल और आईजी संजीव नार्जरी से मुलाकात करके सरकार द्वारा 14 बिंदुओं पर किए गए समझौते को समाज हित में बताया। उन्होंने गुर्जरों के सर्वमान्य मुखिया कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला से आंदोलन को समाप्त कर रेलवे ट्रैक खाली करने की अपील भी की।

आंदोलन स्थल पर ही चटाई और टेंट मंगाया गया।
आंदोलन स्थल पर ही चटाई और टेंट मंगाया गया।

छठे दिन भी ट्रैक पर डटा रहा बैंसला गुट

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते पीलूपुरा स्थित रेलवे ट्रैक पर पांचवें दिन भी कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला समर्थक गुर्जरों का कब्जा बना रहा। आंदोलन के कारण करौली-भरतपुर जिले में पिछले 6 दिनों से इंटरनेट है। इसके अलावा, सवाईमाधोपुर, दौसा, जयपुर की 5 तहसील और अलवर में कुछ जगह इंटरनेट बंद है।

इंटरनेट बंद होने के कारण स्टूडेंट्स और वर्क फ्रॉम होम कर रहे लोगों को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रह है। गुर्जर 4 दिनों से ट्रैक पर बैठे हैं। साथ ही, रोडवेज के हिंडौन, करौली डिपो पर बसें भी नहीं चल पा रही हैं। ऐसे में इन क्षेत्रों के बाहर आने-जाने वाले लोगों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

नगर क्षेत्र में भी बुधवार को अलवर रोड स्थित मोराका टोल नाका पर 22 मिनट जाम लगाने के बाद गुर्जरों ने एसडीएम को ज्ञापन दिया। इससे पहले खखावली पर जाम को पुलिस अधिकारियों ने गुर्जर समाज के लोगों के साथ थाने पर मीटिंग की। डीग एएसपी बुग लाल मीणा और एसडीएम विजेंद्र कुमार मीणा की मौजूदगी में गुर्जर समाज के लोगों ने भरोसा दिलाया कि वे केवल ज्ञापन देंगे। लेकिन दोपहर 3.15 तीन बजे कुछ युवकों ने अलवर रोड पर जाम लगा दिया। बाद में गुर्जर समाज के अध्यक्ष रूपसिंह ने समझाइश करके जाम खुलवा दिया।

खबरें और भी हैं...