• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • If The Officers Were Not Found, The Gate Towards The SDM Office Was Closed, Seeing The Uproar, The SDM Reached To Collect The Memorandum.

किसान यूनियन का हंगामा:अधिकारियों ने सुनवाई नहीं की तो ऑफिस का गेट बंद किया, हंगामा देख SDM पहुंचे ज्ञापन लेने

भरतपुर13 दिन पहले

भरतपुर के कलेक्ट्रेट पर भारतीय किसान यूनियन ने पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को ERPC राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने को लेकर प्रदर्शन किया। जब अधिकारियों ने किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं की सुनवाई नहीं की तो उन्होंने SDM ऑफिस की तरफ एक गेट बंद कर दिया, और जमकर नारेबाजी करने लगे। जिसके बाद SDM देवेंद्र परमार खुद गेट पर कार्यकर्ताओं का ज्ञापन लेने के लिए पहुंचे।

किसान अपना ज्ञापन देने के लिए SDM के गेट पर अड़े रहे। जब SDM किसानों का ज्ञापन लेने नहीं आए तो उन्होंने गेट को जोर-जोर बजाना शुरू कर दिया और जमकर प्रदर्शन किया। कुछ देर बाद SDM देवेंद्र परमार गेट पर पहुंचे और किसानों का ज्ञापन लिया।

किसान यूनियन युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम सिंह मीणा ने कहा कि पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) राजस्थान प्रदेश के 13 जिलों में सम्पूर्ण सिचाई एवं पीने के पानी की महत्वपूर्ण जीवनदायी परियोजना है। परियोजना में टोंक, बूंदी, कोटा, बारा, झालावाड़, अजमेर, जयपुर, दौसा, अलवर, भरतपुर, सवाई माधोपुर, करौली व धौलपुर, 13 जिले शामिल हैं। इस परियोजना के शुरू होने से पूर्वी राजस्थान की बंजर भूमि तक भी पानी पहुंचाया जा सकता है। इस परियोजना से 13 जिलों में लगभग पाँच लाख हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई एवं पीने का पानी उपलब्ध हो सकेगा। इससे राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में भू-जल स्तर बढ़ेगा और यहां के किसानों एवं खेती हर मजदूरों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। जिससे राज्य के निवेश एवं राजस्व में भी वृद्धि होगी।