थाने में 'बंधक' बनाने वाला कॉन्स्टेबल सस्पेंड:10 घंटे तक 2 महिलाओं को बैठाए रखा, सड़क पर किया ड्रामा

भरतपुर2 महीने पहले

भरतपुर के रूपवास थाना के एक हेड कॉन्स्टेबल को कल रात उसकी हरकतों के कारण सस्पेंड कर दिया गया। तफ्तीश के मामले में हेड कॉन्स्टेबल दिगम्बर सोमवार सुबह 11 बजे दो महिलाओं, 2 बच्चों और 7 मजदूरों को थाने ले आया था। बाद में उसने मजदूरों व बच्चों को छोड़ दिया लेकिन दोनों महिलाओं को 10 घंटे से भी ज्यादा वक्त तक थाने में बैठाए रखा। एक महिला के पति ने आरोप लगाया कि हेड कॉन्स्टेबल दिगम्बर शराब के नशे में धुत था। महिला का जेठ थाने पहुंचा तो उसके साथ मारपीट की। आरोपी हेड कॉन्स्टेबल के खिलाफ उच्च अधिकारियों को सूचना मिली तो मौके पर वह नशे में पाया गया। उसे सस्पेंड कर दिया गया।

रुमाली और कमलेश बिना किसी अपराध के कई घंटों तक थाने में बैठी रहीं। रुमाली का कहना है कि कॉन्स्टेबल ने उसका हाथ पकड़ कर खींचा, बदतमीजी की।
रुमाली और कमलेश बिना किसी अपराध के कई घंटों तक थाने में बैठी रहीं। रुमाली का कहना है कि कॉन्स्टेबल ने उसका हाथ पकड़ कर खींचा, बदतमीजी की।

मामला रुपवास थाना इलाके का है। ऑयल मिल के पास नारायण और विजय ने जमीन खरीदी थी। उसी प्लाट पर आज मकान का काम चल रहा था। प्लाट को लेकर पहले से विवाद था। हेड कॉन्स्टेबल दिगम्बर मामले की तफ्तीश करने गया था। वह कल सुबह 11 बजे प्लाट पर काम कर रहे 7 मजदूरों के साथ घर की दो महिलाओं को भी पकड़ लाया। पीड़ित महिला रुमाली देवी ने बताया कि हेड कॉन्स्टेबल ने उसका आधार कार्ड ले लिया। हाथ पकड़ कर खींचा और थाने में बिठा दिया। उसने वहां से उठने नहीं दिया। जेठ थाने में बैठाने का कारण पूछने आया तो उसके साथ मारपीट कर दी।

पीड़ित व्यक्ति नारायण ने बताया कि प्लॉट को लेकर बहादुर नाम के व्यक्ति से विवाद चल रहा है। हमने 5 महीने पहले ऑयल मिल के पास ये जमीन खरीदी थी। बहादुर उस जमीन को अपनी बताता है। वह धमकियां देता है। आज हेड कांस्टेबल दिगम्बर सिंह शराब के नशे में पुलिस जीप लेकर हमारे निर्माणाधीन मकान पर पहुंचा। वहां से 7 मजदूरों, घर के 2 बच्चों और घर की महिलाओं रुमाली और कमलेश को गाड़ी में बैठा कर थाने ले गया। देर रात तक उसने महिलाओं को नहीं छोड़ा। बाद में ऊपर शिकायत की तो कार्रवाई हुई।

कॉन्स्टेबल के खिलाफ शिकायत की गई। जांच करने टीम पहुंची तो वह सड़क पर लेटकर ड्रामा करने लगा।
कॉन्स्टेबल के खिलाफ शिकायत की गई। जांच करने टीम पहुंची तो वह सड़क पर लेटकर ड्रामा करने लगा।

बता दें कि विभाग की तरफ से जांच के वक्त भी हेड कॉन्स्टेबल नशे में था। वह थाने के सामने ही सड़क पर लेट गया। काफी देर तक उसका ड्रामा चलता रहा। देर रात उसे सस्पेंड कर दिया गया। मामले में एडिशनल एसपी राजेंद्र वर्मा ने बताया कि घटना की जानकारी मिली तो जांच करने थाने आए। हेड कॉन्स्टेबल दिगम्बर सिंह पर थाने में बैठाए रखने और मारपीट के आरोप हैं। उसका मेडिकल कराया है।

खबरें और भी हैं...