विरोध - प्रदर्शन:कोविड सहायकों को 5 माह से नहीं मिला वेतन, सहायकों की नियुक्ति के समय 7900 रुपए मानदेय किया गया था निर्धारित

भरतपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड हेल्थ सहायक पिछले 5 माह का बकाया वेतन की मांग का सीएमएचओ को ज्ञापन देते हुए। - Dainik Bhaskar
कोविड हेल्थ सहायक पिछले 5 माह का बकाया वेतन की मांग का सीएमएचओ को ज्ञापन देते हुए।

आनंद नगर, तिलक नगर, पुलिस लाइन, अटल बंध शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) पर काम कर रहे कोविड सहायकों ने शुक्रवार को बकाया वेतन भुगतान की मांग को लेकर सीएमएचओ कार्यालय समेत जिलेभर में प्रदर्शन किए। इनका कहना है कि वे अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना रोगियों की सेवा कर रहे हैं। फिर भी उन्हें पिछले 5 महीने से बकाया वेतन नहीं मिल रहा है। कोविड हेल्थ सहायकों का कहना है कि राज्य सरकार उनका शोषण कर रही है। पिछले 5 महीने के दौरान वेतन तो दूर उन्हें एनएचएम में भी नहीं लिया है।

कोविड हेल्थ सहायकों को 7900 रुपए प्रति माह के हिसाब से वेतन मिलता है। इतनी कम राशि में घर खर्च चलाना मुश्किल है। वे लोग घर-घर जाकर वैक्सीनेशन के साथ 15 से 18 साल तक के बच्चों का टीकाकरण भी कर रहे हैं। उन्होंने वेतन 26500 रुपए करते हुए उन्हें एनएचएम कर्मचारी माने जाने की मांग की है। सीएमएचओ डॉ. मनीष चौधरी को ज्ञापन देने वालों में मनोज फौजदार लुधावई, पवन शर्मा, तेजवीर सिंह, राजीव लाटा, श्याम सिंह, वर्तिका कुमारी, मीनू, हमेशा, वर्षा कुमारी आदि मौजूद थे।

नदबई। 6 माह का वेतन नहीं मिलने के विरोध में कोविड स्वास्थ्य सहायकों का दूसरे दिन धरना जारी रहा। शुक्रवार को सुबह कस्बे के मुख्य बाजार से होते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए रैली निकाली गई। तदोपरांत सभी सहायक अपने धरना स्थल पर आ गए। रात्रि के दौरान भी सहायकों मजबूरी में धरने पर ठंड में बैठना पड़ रहा है। लेकिन सरकार ध्यान नहीं दे रही है।

डीग में अब 10 जनवरी से कार्य बहिष्कार करने की चेतावनी
डीग। कोरोना काल में अपनी सेवाएं दे रहे ब्लॉक क्षेत्र के कोविड हेल्थ सहायकों ने वेतन की मांग को लेकर एसडीएम हेमंत कुमार को ज्ञापन सौंपने के साथ वेतन के लिए सीएचसी सहित खंड मुख्य कार्यालय के समक्ष नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। हेल्थ सहायकों ने वेतन नहीं मिलने पर 10 जनवरी से कार्य बहिष्कार की बात कही है। कोविड हेल्थ सहायक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष शेरसिंह के नेतृत्व में सहायकों ने एसडीएम को दिए ज्ञापन में बताया कि कोरोना काल में कार्य कर रहे कोविड हेल्थ सहायकों को पिछले 6 माह से अभी तक वेतन नहीं मिला है।

इधर वैर और रुदावल में मुख्यमंत्री के नाम मांगों को लेकर दिए ज्ञापन
वैर।
कोविड हैल्थ सहायकों ने 6 माह के बकाया वेतन के भुगतान की मांग को लेकर रैली निकालकर। नपा कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया। जिला संयोजक कोविड हैल्थ सहायक तरुण कुमार शर्मा ने बताया कि 6 महीने से उनका वेतन नहीं दिया जा रहा है। नपा द्वारा उनका वेतन दिया जाना है। शुक्रवार को वेतन ना मिलने के कारण कोविड हैल्थ सहायकों ने सीएचसी से लेकर नगर पालिका तक रैली निकाली। अधिशाषी अधिकारी योगेश कुमार पिप्पल ने कोविड हैल्थ सहायकों को समझाइश करते हुए बताया कि बिल बनाकर तैयार कर दिया गया है।

रुदावल| उच्चैन कोविड स्वास्थ्य सहायकों ने मानदेय का वेतन दिलाने सहित पांच सूत्रीय मांगों को पूरा कराने की मांग को लेकर कार्य बहिष्कार कर सीएचसी के बाहर धरना दिया। इसके बाद तहसीलदार को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया।

ग्रामीण क्षेत्र के कोविड हेल्थ सहायकों का वेतन पंचायत समिति एंव शहरी क्षेत्र के हेल्थ सहायकों का वेतन नपा द्वारा किया जाना है। वेतन को लेकर 27 दिसंबर को सभी हेल्थ सहायकों की हाजिरी के साथ बिल बनाकर संबधित कार्यालयों को भेज दिया गया है। - डॉ हिमांशु पाराशर,खंड मुख्य ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी

खबरें और भी हैं...