ख्वाहिशों परओमिक्राॅन का खतरा:टलने लगीं शादियां विदेश से आने वाले अब 7 दिन किए जाएंगे क्वारेंटाइन

भरतपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मैरिज हाेम में कर्मचारियाें के लिए मास्क अनिवार्य कर दिए है। - Dainik Bhaskar
मैरिज हाेम में कर्मचारियाें के लिए मास्क अनिवार्य कर दिए है।

काेराेना के नए वेरिएंट ओमिक्रान ने वेडिंग काराेबार काे डरा दिया है। आशंका है कि तेजी से बढ़ते केसाें काे देखते हुए सरकार जल्द ही बंदिशें लगा सकती है। ऐसे में वेडिंग काराेबार लगातार तीसरे सीजन से वंचित रह सकता है। इस साल में 13 दिसंबर तक लगातार सावे हैं। इसके बाद मलमास 14 जनवरी काे खत्म हाे जाएगा और अप्रैल तक लगातार सावे हैं। इस दाैरान करीब डेढ़ से दाे हजार शादियां हैं।

भरतपुर मैरिज हाेम समिति सचिव जितेंद्र गाेयल ने बताया कि नई बुकिंग पर वर/वधु के परिजन असमंजस में आ गए है। कुछ बुकिंग टल भी गई हैं। कुछ शादियां हाेटलाें में शिफ्ट हुई हैं। अगर ऐसा हुआ ताे वेडिंग काराेबार को नुकसान होगा। ऐसे में करीब 10 हजार लाेगाें का राेजगार प्रभावित हाेगा। खतरे काे भांपते हुए मैरिज हाेम संचालकाें ने सभी कर्मचारियाें काे मास्क, गिल्ब्स और सेनेटाइजर अनिवार्य कर दिया है। एंट्री गेट पर सेनेटाइजर लगाए जा रहे हैं।

भरतपुर जिले में 60 छोटे-बड़े मैरिज गार्डन
उल्लेखनीय है कि शहर में 60 से अधिक छोटे-बडे़ मैरिज गार्डन हैं। एक शादी में बैंड-बाजे, डेकोरेशन, डीजे, साउंड, लाइट, फ्लावर, कैटरिंग आदि से जुडे़ 50 से 150 आदमी को किसी ने किसी रूप में रोजगार मिलता है। पिछले काेराेना काल में वेडिंग इंडस्ट्री काे करीब 15 कराेड़ का नुकसान हुआ था।

इधर, स्वास्थ्य सचिव वैभव गालरिया ने वीसी के माध्यम से जिलों के स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि विदेशों से रहे लोगों को 7 दिन क्वारेंटीन करने की व्यवस्था की जाए। उल्लेखनीय है कि पिछले काेराेनाकाल में जिले में 19 हजार 601 लाेगाें काेराेना से पाॅजिटिव हुए थे, जबकि 260 लाेगाें की माैत हाे गई थी। इसलिए काेराेना के नए वेरिएंट ओमिक्रान काे लेकर चिंता है।

काेराेनाकाल में कैसे हाे काॅलेज में पढ़ाई, 40 लेक्चरर कर रहे 10 राज्याें का अध्ययन, इनमें तीन भरतपुर से

इधर, काेराेना काल में काॅलेजाें में कैसे पढ़ाई कराई जा सकती है इसका अध्ययन करने के लिए काॅलेज आयुक्तालय ने 40 लेक्चरर की टीम बनाई है जाे 10 राज्याें सिक्किम, मध्यप्रदेश, केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़, गाेवा और गुजरात के कालेजाें में शिक्षण व्यवस्था का अध्ययन कर रिपाेर्ट तैयार करेगी।

40 सदस्यीय टीम में आरडी गर्ल्स कालेज के प्राॅचार्य डाॅ. धीरेंद्र देवर्षि, एमएसजे काॅलेज के दाे लेक्चरर डाॅ. सुनीता पांडे और डाॅ. मुकेश कुमार काे शामिल किया गया है। अध्ययन व्यवस्था काे परखने के बाद रिपाेर्ट आयुक्तालय काे 15 दिसंबर तक साैंपी जाएगी। ओमिक्रान वेरियंट के पेशेंट सामने आने से शिक्षण व्यवस्था पर फिर से संकट मंडराने लगा है।

नए सीजन में 65 से ज्यादा विवाह
मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की पंचमी बुधवार को मनाई जाएगी। इसे विवाह पंचमी भी कहते हैं। दिसंबर में 7, 8, 11 और 13 दिसंबर काे विवाह मुहूर्त हैं। जबकि वर्ष 2022 में 65 से ज्यादा सावे हैं। प्रमुख सावे इन तारीखाें में हैं।

पॉजिटिव आने पर मरीज की जीनोम टेस्टिंग की जाएगी
इधर, स्वास्थ्य सचिव वैभव गालरिया ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आरटीपीसीआर टेस्ट नेगेटिव होने तक 7 दिन होम क्वारेंटाइन किया जाए। 8वें दिन आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाए। रिपोर्ट नेगेटिव आए तो 7 दिनों तक सेल्फ हेल्थ माॅनिटरिंग की जाए। आरटीपीसीआर टेस्ट पाॅजिटिव आने पर सेम्पल की जीनोम टेस्टिग कराई जाए।

खबरें और भी हैं...