RGHS योजना का दुरुपयोग:मेडिकल स्टोर दवाओं के बदले दे रहे घरेलू सामान, टीम ने की कार्रवाई

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेडिकल दुकान के मालिक के खिलाफ शिकायत देते मेडिकल टीम के अधिकारी। - Dainik Bhaskar
मेडिकल दुकान के मालिक के खिलाफ शिकायत देते मेडिकल टीम के अधिकारी।

प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों व पेंशन धारकों के लिए मुफ्त में स्वास्थ्य सुविधाएं और दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए 1 जुलाई 2021 से आरजीएचएस योजना की शुरुआत की थी। मगर इस योजना का किस तरह से दुरुपयोग किया जा रहा है और किस तरह से इसमें शामिल सरकारी कर्मचारी डॉक्टर और दवा विक्रेता अवैध रूप से लाभ उठा रहे हैं इसका खुलासा हुआ।

RGJS के दुरुपयोग की शिकायत मिलने के बाद मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में सतर्कता टीमों का गठन किया गया है । इस विभाग की एक टीम ने संयुक्त परियोजना निदेशक सुरेश कुमार मीणा के नेतृत्व में शुक्रवार को भरतपुर में कार्रवाई की। टीम ने मथुरा गेट थाना इलाके में स्थित कन्नी गुर्जर चौराहे के पास एक मेडिकल स्टोर पर कार्रवाई की। जहां इस योजना का लाभ ले रहे सरकारी कर्मचारियों को दवाइयों के बदले घरेलू सामान दिया जा रहा था।

इस योजना का दुरुपयोग कर न केवल सरकारी कर्मचारी बल्कि दवा विक्रेता और चिकित्सक भी शामिल है। RGJS के संयुक्त निदेशक सुरेश कुमार मीणा ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा राज्य सरकार के कर्मचारी, पेंशनरों, ऑटोनॉमस बॉडी के कर्मचारियों के लिए कैशलेस स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है। प्रदेश के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में सरकारी कर्मचारियों के लिए कैशलेस इलाज किया जा रहा है। दवाइयां वितरित करने के लिए निजी मेडिकल विक्रेता भी अधिकृत किए हैं। कई जगह यह देखने में आया है कि मेडिकल स्टोर वाले दवाइयों की जगह घरेलू सामान दे रहे हैं।

राज्य सरकार की मंशा है कि ऐसा कोई भी परिवार जो सरकार को सरकारी सेवा दे रहा है, वह बगैर दवाई के नहीं रहे। उसके बावजूद भी सरकारी कर्मचारी और मेडिकल स्टोर इस योजना का दुरुपयोग करते हुए घरेलू सामान खरीद रहे हैं । सरकार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी। आज भरतपुर में भी ऐसा ही एक मामला पकड़ा है, जहां हमारी टीम ने मेडिकल स्टोर पर छापा डाला जहां दवाइयों के बदले घरेलू सामान दिया जा रहा था।

मथुरा गेट थानाधिकारी रामनाथ ने कहा कि आरजीएचएस योजना की टीम ने कार्यवाही की है | सरकारी कर्मचारियों को इस योजना के तहत दवा विक्रेता घरेलू सामान दे रहे थे | पुलिस ने फरजकारी के तहत मामला दर्ज कर लिया है |