अपराधियों के हौसले बुलंद:सेवर जेल में बदमाश ने जेलर पर किया हमला; लूट और डकैती के मामलों में बंद है पंकज

भरतपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

सेवर सेंट्रल जेल में सजा काट रहे अपराधियों के हौसले दिनोंदिन बढ़ते ही जा रहे हैं। जेल के बंद कैदियों के पास मोबाइल आदि मिलना तो आम बात सी हो गई है। वहीं उनका दुस्साहस भी बढ़ता जा रहा है। शनिवार शाम करीब 4 बजे तो एक अपराधी ने हद ही कर दी। झगड़ते अपराधियों को समझाइश करने पहुंचे जेलर पर एक अपराधी ने जान लेवा हमला ही बोल दिया। लेकिन तत्काल अन्य जेलकर्मियों ने उसे पकड़ा और जेलर को उसके कब्जे से झुड़ाया।

बाद में घटना का संबंध जेलर कैलाश चंद शर्मा ने थाना सेवर पुलिस में दर्ज कराया है। दर्ज कराई रिपोर्ट में जेलर ने कहा है कि शनिवार शाम करीब चार बजे जेल के वार्ड संख्या 4 में बंदी पंकज शर्मा और कृष्णा ठाकुर आपस में झगड़ रहे थे। प्रहरी की सूचना पर मैं तत्काल अन्य जेलकर्मियों के साथ बंदियों से समझाइश करने लगा तो बंदी कृष्णा ठाकुर तो बात मान गया, लेकिन इसी दौरान अचानक बंदी पंकज शर्मा ने हमला बोल दिया।

उसने मैरा गिरेबान पकड़ लिया और गाली गलौच की और हाथ से मोबाइल आदि छीनने का प्रयास किया। लेकिन बाद में तत्काल उसे अन्य जेल कर्मियों ने पकड़ लिया। घटना के संबंध में थाना सेवर पुलिस ने बंदी घीया मंडी चौक बाजार मथुरा यूपी निवासी 40 वर्षीय पंकज शर्मा पुत्र अशोक शर्मा के खिलाफ जान से मारने की नीयत से जेलर पर हमला करने का मामला दर्ज कर जांच एएसआई राधाकिशन को सौंपी है।

हमलावर बंदी पंकज शर्मा कुख्यात अपराधी है। इसके खिलाफ लूट, फिरौती, डकैती आदि के करीब 40 मुकदमे दर्ज हैं। सेवर सेंट्रल जेल में ही मोबाइल आदि मिलने और बंदियों के साथ झगड़ा करने आदि के करीब आधा दर्जन मामले सेवर थाना पुलिस में दर्ज हैं। बीते करीब 8 साल से उक्त अपराधी सेवर सेंट्रल जेल में बंद है।

बंदी के खिलाफ थाने में दर्ज कराया मामला : वर्मा
बंदी पंकज शर्मा झगड़ालू किस्म का कुख्यात अपराधी है। काफी लंबे समय से जेल में बंद है। जेलर पर हमले को लेकर सेवर थाना में बंदी के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया गया है। साथ ही जेल हैड क्वाटर को इसे अन्य किसी जेल में शिफ्ट करने के लिए पत्र लिखा जाएगा।
-अशोक वर्मा, अधीक्षक सेवर जेल

खबरें और भी हैं...