पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नीट रिजल्ट:नीट का रिजल्ट घोषित, गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज भरतपुर में एमबीबीएस के 150 अभ्यर्थियों को मिल सकेगा प्रवेश

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नीट 2020 की फाइनल आंसर की हुई जारी, वेबसाइट क्रैश होने की वजह से कई घंटे अभ्यर्थी रहे परेशान

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने शुक्रवार शाम को नीट 2020 का रिजल्ट घोषित कर दिया।रिजल्ट के साथ ही इस दिन एजेंसी ने फाइनल आंसर की भी जारी कर दी है। नीट का रिजल्ट घोषित होने के बाद गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज भरतपुर में एमबीबीएस की 150 सीटों पर सफल अभ्यर्थियों को प्रवेश मिलेगा।

इधर रिजल्ट घोषित होने के साथ ही एजेंसी की ऑफिशियल वेबसाइट क्रैश होने के कारण अभ्यर्थी कई घंटे तक रिजल्ट देखने के लिए परेशान रहे। ऑफिशियल वेबसाइट ntaneet.nic.in पर अपने स्कोर चेक करने के लिए अभ्यर्थी बार-बार प्रयास करते रहे, लेकिन साइट नहीं चल सकी। बहुत कम लोग रात 9 बजे बाद अपना रिजल्ट देख सके। उल्लेखनीय है कि 13 सितंबर और 14 अक्टूबर को हुई नीट की परीक्षा में अभ्यर्थी शामिल हुए थे।

पहले नेशनल फिर स्टेट लेवल की काउंसलिंग
नीट के रिजल्ट जारी होने के बाद स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ऑल इंडिया सीटों के लिए काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू करेगा। परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थियों को काउंसलिंग के लिए ऑफिशियल वेबसाइट mcc.nic.in पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। रजिस्ट्रेशन के दौरान उम्मीदवारों को अपना व्यक्तिगत, शैक्षणिक, नीट रिजल्ट, कॉन्टैक्ट डीटेल्स और अन्य जानकारी भरनी होंगी। उसके बाद स्टेट लेवल की काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू की जाएगी, जिसमें भरतपुर के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की 150 सीटों पर प्रवेश हो सकेगा।

शिक्षक के बेटे देव दिव्यांश को मिले 658 अंक
शिव नगर कॉलोनी निवासी शिक्षक सुधीर कुमार के बेटे देव दिव्यांश नीट की परीक्षा में सफलता हासिल की है। जिसने 720 अंकों में से 658 अंक प्राप्त कर ऑल इंडिया रैंक 2502 बनाई है।

मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर के बेटे अवि को मिले 638 अंक

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज भरतपुर के प्रोफेसर डॉ अजय कुकरेजा के बेटे अवि कुकरेजा ने नीट परीक्षा में सफलता प्राप्त की है। जिसने 720 अंकों में से 638 अंक प्राप्त कर ऑल इंडिया रैंक 6424 बनाई है।

एक जैसी रैंक होने पर टाई-ब्रेक
रिजल्ट जारी होने अगर दो या दो से ज्यादा कैंडिडेट्स के एस जैसे मार्क्स होने पर बायोलोजी में हाई मार्स्क के क्रम में टाई ब्रेकिंग किया जाता है। इसके बाद भी अगर टाई बनी रहती है, तो केमिस्ट्री में उच्च अंक टाई ब्रेकिंग के लिए माना जाता है। अगर फिर भी समस्या का समाधान नहीं होता है, तो कम से कम नेगेटिव मार्किंग हासिल करने वाले को प्राथमिकता दी जाती है।

पहली बार नीट के स्कोर से होगा ऐम्स और जिप्मेर में प्रवेश
पहली बार वर्ष 2020 से नीट रिजल्ट और स्कोर कार्ड के आधार पर ही देश के सभी 14 एम्स और जिप्मेर पुदुचेरी में संचालित एमबीबीएस सीटों पर एडमिशन दिया जाएगा। इससे पहले इन में प्रवेश के लिए अलग से प्रतियोगी परीक्षा आयोजित की जाती थी।

14 अक्टूबर को दोबारा हुई थी परीक्षा
सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई करते हुए 13 सितंबर को हुई परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए कैंडिडेट्स के लिए 14 अक्टूबर को दोबारा नीट आयोजित करने के निर्देश दिए थे। इस दौरान कोर्ट ने यह भी निर्देश दिए कि कोविड-19 संक्रमित या कंटेनमेंट जोन के कारण परीक्षा से वंचित उम्मीदवारों के लिए दोबारा परीक्षा आयोजित करने के बाद 16 अक्टूबर को रिजल्ट जारी किया जाए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें