पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत की खबर:अब कस्बों में भी होगा कोरोना का इलाज; सीएचसी में खुलेंगे वार्ड, 2 से 3 ऑक्सीजन वाले बेड भी रहेंगे

भरतपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 131 नए मिले, पिछले 5 दिन से हर रोज मर रहे 3 लोग, 7 दिन में 17 ने गंवाई जान

दूसरी लहर में बेकाबू होते जा रहे कोरोना संकट के बीच अब राहत की खबर है। चूंकि शहरी क्षेत्रों के साथ ही अब यह संक्रमण गांवों में भी फैलता जा रहा है। इसलिए जिला प्रशासन ने अब सभी 10 ब्लॉक के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी कोविड वार्ड बनाने का फैसला किया है। इनमें 2 से 3 ऑक्सीजन वाले बेड भी रहेंगे। रेमडेसिविर इंजेक्शन समेत तमाम जीवन रक्षक उपकरण और दवाइयां भी उपलब्ध रहेंगी।

साथ ही 24 घंटे डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ की सेवाएं मिलेंगी। इससे ग्रामीण रोगियों को इलाज के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। बल्कि घर के निकट ही बेहतर इलाज मिलने से उनका समय और पैसा दोनों बचेंगे। साथ ही जिला आरबीएम अस्पताल पर भी लोड कम होगा। क्योंकि केवल गंभीर रोगियों को ही जिला अस्पताल रेफर किया जा सकेगा।

कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने बताया कि ब्लॉक सीएचसी पर राेगियाें का प्राथमिक इलाज हाेगा। अगर राेगी की स्थिति जरा सी भी गंभीर हुई ताे उसे तुरंत आरबीएम में शिफ्ट किया जाएगा। यह व्यवस्था इसलिए की जा रही है जिससे किसी राेगी की जान न जाए और उसे तुरंत इलाज मिल सके। अभी देखने में आया है कि काेरोना राेगी की स्थिति तभी बिगड़ती है, जब उसे समय पर तत्काल इलाज नहीं मिल पाता।

अब घर पर भी होगा कोरोना का इलाज
कलेक्टर के मुताबिक कोरोना रोगियों का उनके घर पर भी इलाज होगा। इसके लिए डाेर टू डाेर सर्वे कराया जा रहा है। कोविड यानि बिना लक्षण अथवा कम लक्षण वाले रोगियों को जरूरी दवाइयाें की किट दी जाएगी। इसके साथ ही चिकित्साकर्मी उन्हें दवाइ लेने और सावधानियां बरतने की जानकारी देंगे ताकि वे होम आइसोलेशन में रहकर ठीक हों।

आज से सभी ब्लॉक में लगेंगी वैक्सीन
इधर, जिले की सभी तहसीलों में शनिवार से वैक्सीनेशन शुरु जाएगा। फिलहाल उन्हीं केन्द्रों पर टीके लगाए जाएंगे पहली डोज लगाई थी। दूसरी डोज लगवाने वालों को प्राथमिकता दी जाएगी।

एक माह में 20 गुना से ज्यादा हो गए एक्टिव केस
कोरोना फैलता जा रहा है। इसका अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि 7 अप्रैल को जहां 78 केस थे, वहीं 7 मई को यह 1550 पहुंच गए। यानि 20 गुना सक्रिय केस बढ़े। वहीं शुक्रवार को जिले में 131 नए रोगी मिले। जबकि सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 5 दिन से रोजाना 3 लोग दम तोड़ रहे हैं। कोरोना से 7 दिन में 17 मौत हो चुकी है। जबकि अप्रैल के शुरुआती सप्ताह में कोई मौत नहीं हुई थी।

खबरें और भी हैं...