पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उम्मीद के 10 सावे:अब वेडिंग इंडस्ट्रीज काे भी अनलाॅक करे सरकार : कारोबारी

भरतपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शादी-विवाह आयाेजन काराेबार से जुड़े काराेबारियाें ने सरकार से बाजाराें की तरह वेडिंग इंडस्ट्रीज काे भी अनलाॅक किए जाने की मांग की है। उन्हाेंने कहा कि पिछले साल के सीजन की तरह इस साल का सीजन भी बर्बाद हा़े चुका है। इस सीजन में देवशयन 20 जुलाई काे है। इसके बाद अगले चार महीने तक शादियां नहीं हैं। ऐसे में वेडिंग इंडस्ट्रीज काे बचाने के लिए शेष रहे 10 सावाें में काराेबार करने की अनुमति दी जाए।

भरतपुर मैरिज हाेम समिति के सचिव जितेंद्र गाेयल ने बताया कि कोरोना संक्रमण कम होने के मद्देनजर बाजार खुलने पर वेडिंग इंडस्ट्रीज ने मुख्यमंत्री से शादी समारोह पर लगी रोक हटाने का आग्रह किया है। व्यापारियों ने 11 की जगह 150 से 200 मेहमानों के शामिल होने की अनुमति देने का अनुराेध किया है।

ज्ञापन में कहा गया है कि 2 जून से प्रदेश में अनलॉक किया गया है, लेकिन शादियों पर 30 जून तक प्रतिबंध रखा गया है। वेडिंग इंडस्ट्रीज के विवाह स्थल, टेंट हाउस, केटर्स, हलवाई, लाइट डेकोरेटर, फ्लोवर डेकोरेटर, डीजे साउंड, फोटोग्राफर, बैंड, लवाजमा, जनरेटर ऑपरेटर आदि के व्यापारियों से सरकार का सौतेला व्यवहार है। 10 हजार से ज्यादा लाेगाें का राेजगार प्रभावित हा़े रहा है।

18 जुलाई तक 10 मुहूर्त
दाे जून से अनलाक की प्रक्रिया प्रारंभ हा़े गई है। लेकिन अभी वेडिंग इंडस्ट्रीज काे छूट नहीं दी गई है। जून मंे 4 और जूलाई में भी 6 मुहूर्त हैं। इस सीजन के अंतिम दिन 18 जुलाई को अबूझ मुहूर्त है। इस तरह मांगलिक कार्य के लिए जून और जुलाई में अबूझ मुहूर्त सहित कुल 10 मुहूर्त हैं।

खबरें और भी हैं...