पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पक्षियों की महामारी:अब पोल्ट्री फार्म वाले भगाएंगे कौवे, गेट पर डालना होगा चूना

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।
  • जिले के 81 पोल्ट्री फार्म में हैं 2.79 लाख मुर्गियां, कारोबार पर रोक नहीं

प्रदेश में बर्ड फ्लू की आहट को लेकर पशुपालन, वन विभाग और पोल्ट्री फार्म संचालक सतर्क हैं। हालांकि संतोषजनक स्थिति ये है कि बुधवार शाम तक हमारे यहां कोई भी संदिग्ध मामला सामने नहीं आया। फिर भी पशुपालन विभाग ने एडवाइजरी जारी की है। इसमें पोल्ट्री फार्म में कौवे नहीं घुस सकें इसके लिए संचालकों को ठोस प्रबंध करने को कहा है।

प्रदेश में 250 से ज्यादा कौवों की मौत हो चुकी है। इनमें से कुछ में बर्ड फ्लू के लक्षण माने जा रहे हैं। इसके अलावा संचालकों को पोल्ट्री फार्म के गेट पर चूना डालने के भी निर्देश दिए हैं। ताकि कोई भी व्यक्ति पोल्ट्री फार्म में जाए तो किसी भी प्रकार का बैक्टीरिया अंदर ना जा सके। चूने को एंटी सेप्टिक माना जाता है। उन्हें पोल्ट्री फार्म में विशेष तौर पर साफ-सफाई रखने और किसी भी मुर्गी की असामान्य मौत होने पर तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित करने को कहा है।

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. नगेश चौधरी ने बताया कि पोल्ट्री फार्म में बर्ड फ्लू की आशंका के चलते एहतियात बरती जा रही है। सर्वे कराया है। जिले में 81 पोल्ट्री फार्म चिन्हित हुए हैं। इनमें केवल फार्म ही दो अंडे का कारोबार करते हैं, जबकि बाकी सभी चिकन बेस्ड हैं। जिले में फिलहाल 2 लाख 79 हजार मुर्गियां है।

समन्वय समिति बनाई
इधर, बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए जिला कलेक्टर ने समन्वय समिति का गठन किया है। इसकी मीटिंग गुरुवार दोपहर 12.30 बजे होगी। इसमें केवलादेव राष्ट्रीय घना पक्षी उद्यान निदेशक, जिला वन अधिकारी, नगर निगम आयुक्त, सीएमएचओ, पीआरओ, क्षेत्रीय रोग निदान केंद्र के डीडी और पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक शामिल रहेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें