चोरी का नया ट्रेंड:ईको वैन के सिर्फ साइलेंसर हो रहे हैं चोरी, 6 माह में 50 गाड़ियों के साइलेंसर हुए चोरी, इनमें 12 भरतपुर शहर से

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वजह प्रदूषण कम करने के लिए लगे होते हैं 400 ग्राम चांदी के फिल्टर

अगर आपके पास ईको वैन है तो सावधान हो जाएं। क्योंकि इनके साइलेंसर की चोरियां ज्यादा बढ़ गई हैं। कारण इस साइलेंसर में करीब 400 चांदी के 3 फिल्टर लगे होते हैं जो प्रदूषण को कम करते हैं। एक साइलेंसर की बाजार कीमत करीब 75000 रुपए तक है। इसलिए ये साइलेंसर चोरों की पहली पसंद हैं। मथुरा गेट पुलिस द्वारा एक चोर से पूछताछ में यह खुलासा हुआ है। एएसआई रामवीर सिंह ने बताया कि पकड़ा गया चोर बृज बिहार कॉलोनी का सस्पेंद्र कुमार जाट है।

चोरी में बराखुर का देवेंद्र सिंह और भोसिंगा का रामू सहयोग करते थे। इसने शहर से 5 ईको गाड़ियों के साइलेंसर चोरी करना कबूला है। सस्पेंद्र ने बताया कि वे लोग साइलेंसर को काटकर उसमें से चांदी के गुटके निकाल लेते हैं। चांदी के इन गुटकों की एवज में उन्हें 35 से 40 हजार रुपए मिल जाते हैं। साइलेंसर भी करीब 5 हजार रुपए में बिक जाता है। दरअसल, ईको गाड़ी के साइलेंसर चोरी करने में वह इसलिए माहिर है क्योंकि उसके पास लंबे समय तक ईको गाड़ी रही है। पिछले करीब 6 महीने के दौरान 50 ईको गाडियों के साइलेंसर चोरी हुए हैं।

इस तरह से पकड़ में आया बदमाश
पुलिस के मुताबिक बुढवारी खुर्द निवासी रविंद्र कुमार ने सोमवार को मथुरा गेट थाने में ईको गाड़ी से साइलेंसर चोरी का मामला दर्ज कराया था। उसका कहना था कि वह आरबीएम अस्पताल टैक्सी स्टैंड से ईको गाड़ी चलाता है। तीन युवकों ने सोमवार को फतेहपुर सीकरी के लिए 900 रुपए में गाड़ी बुक की थी। वे उसे मडरपुर रोड पर ले गए और जंगल में एक झोंपड़ी के पास गाड़ी को रुकवा लिया। उनमें से एक युवक कुछ सामान गाड़ी में रखवाने के लिए उसे अपने साथ ले गया। इस दौरान उसके दो साथियों ने गाड़ी का साइलेंसर चुरा लिया। जब उसने टोका तो उन्होंने मारपीट की। इसी मामले की जांच के दौरान एक चोर पकड़ा गया।

एक्सपर्ट व्यू- चोर चांदी के लालच में चुरा रहे हैं : पाले

ईको गाड़ी में प्रदूषण रोकने के लिए लगा फिल्टर कई धातुओं को मिलाकर बना होता है जिसमें चांदी भी शामिल है। इसकी कीमत करीब 75 हजार रुपए है। चोर चांदी के लालच में साइलेंसर चुरा रहे हैं जो बाजार में करीब 15 हजार रुपए तक में बिक जाती है।-इंद्रपाल सिंह पाले, सीईओ, टीएम मोटर्स, भरतपुर

खबरें और भी हैं...