पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत समिति की जमीन हुई ईदगाह के नाम:भाजपा के आपत्ति दर्ज कराने पर कांग्रेस का पलटवार, कहा राजस्व विभाग की गलती को धर्मिक रंग देना गलत

भरतपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कामां पंचायत समिति कामां। - Dainik Bhaskar
कामां पंचायत समिति कामां।

भरतपुर जिले की कामां तहसील में राजस्व विभाग की गलती से कामां विधायक जाहिदा खान और कांग्रेस नेताओं के बीच तकरार बढ़ रही है। कामां पंचायत समिति की जमीन को राजस्व विभाग की गलती से ईदगाह के नाम से अंकित कर दिया गया है। भाजपा नेताओं ने इस मामले पर आपत्ति दर्ज करवाई तो कामां विधायक जाहिदा खान ने भाजपा नेताओं पर हमला करते हुए कहा की इनके नेताओं की राजनीति ख़त्म हो रही है इसलिए वे इस मामले को धार्मिक मुद्दा बनाना चाहते हैं।

दरअसल 4 दशक पूर्व कामां इलाके में पंचायत समिति का निर्माण करवाया गया था और पंचायत समिति की जमीन को पंचायत समिति के नाम से ही अलॉट किया गया था। अब पंचायत समिति की जमीन राजस्व विभाग में ईदगाह के नाम से अंकित है। जब इस बारे में बीजेपी के पूर्व मंत्री जवाहर सिंह बेडम को पता लगा तो उन्होंने कहा की पंचायत की भूमि 1.30 हेक्टेयर है।

जब पंचायत समिति का निर्माण किया गया था तब वह भूमि पंचायत समिति के नाम से अंकित थी। अब उस भूमि को ईदगाह के नाम से अंकित कर दिया गया है। जैसे ही ये बात संज्ञान में आई तभी विकास अधिकारी को इस बात से अवगत करवाया गया और इस गलती को सुधारने के लिए शिकायत दे दी गई है।

वहीं कांग्रेस विधायक जाहिदा का कहना है कि राजस्व विभाग में कोई टेक्निकल गलती हुई है। राजस्व विभाग के कम्प्यूटर के नाम और हाथ से बने हुए कागजात में फर्क है लेकिन भाजपा के नेता इस मामले को धार्मिक रूप दे रहे हैं।

खबरें और भी हैं...