पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फॉलोअप:1 महीने में पेट्रोल 5.17 और डीजल 5.95 रुपए/लीटर महंगा

भरतपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तेल कंपनियों ने 18 बार बढ़ाए दाम

पिछले एक महीने में कोरोना की तरह पेट्रोल-डीजल भी अनकंट्रोल हुआ है। कोरोना संक्रमण तो काबू आ गया। लेकिन, पेट्रोल-डीजल की दरें काबू नहीं आ रही हैं। रविवार मध्य रात्रि के बाद दरें बढ़ाए जाने के बाद भरतपुर में पेट्रोल की दर 101.60 रुपए और डीजल की दर 94.82 रुपए लीटर हो गई है। जबकि प्रीमियम पेट्रोल 105.41 और प्रीमियम डीजल 98.32 रुपए लीटर हो गई है।

पश्चिम बंगाल समेत 5 राज्यों के 2 मई को चुनाव नतीजे घोषित होने के तुरंत बाद तेल कंपनियों ने दाम बढ़ाने शुरू कर दिए थे। अब तक 18 बार दरें बढ़ाई जा चुकी हैं। इस दौरान भरतपुर में पेट्रोल 5.17 रुपए और डीजल 5.95 रुपए लीटर बढ़े हैं। भरतपुर जिले के लोगों के लिए सबसे बड़ी परेशानी यह है कि पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश और हरियाणा में तेल की दरों 10 रुपए लीटर तक का अंतर है। इसलिए बढ़ी हुई दरें लोगों को ज्यादा विचलित करती हैं।

राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के क्षेत्रीय सदस्य मनोज शर्मा ने बताया कि पड़ोसी राज्यों की तुलना में हमारे यहां दरें अधिक होने का कारण वैट दरें ज्यादा होना है। अगर, तेल की दरें हरियाणा, यूपी, राजस्थान और मध्य प्रदेश की एक समान हो जाएं तो इससे राज्य सरकार को भी राजस्व ज्यादा मिलेगा।

साथ ही पेट्रोलियम डीलर्स की आजीविका भी बचाई जा सकती है। क्योंकि भरतपुर जिले में कई पंप बंद हो चुके हैं। जबकि 200 में से सीमाई इलाकों के कई पंप ड्राई हो चुके हैं।

पेट्रोल-डीजल की तस्करी सख्ती से रोकेंगे : वंदिता
डीजल पेट्रोल की अवैध बिक्री को लेकर इस कारोबार से जुड़े लोगों की जांच करवाकर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिले के सभी थाना अधिकारियों को इस संबंध में जाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए जाएंगे और उसकी मॉनिटरिंग कराई जाएगी।-वंदिता राणा, मुख्यालय

खबरें और भी हैं...