पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संविदा कर्मियों के साथ पीएफ घोटाला:रुपए काटे लेकिन अकाउंट नहीं खोला, संविदा कर्मियों ने किया कार्य बहिष्कार; अस्पताल की डगमगाई व्यवस्था

भरतपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला आरबीएम अस्पताल के बाहर प्रदर्शन करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
जिला आरबीएम अस्पताल के बाहर प्रदर्शन करते कर्मचारी।

भरतपुर के आरबीएम, जनाना अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में लगे प्लेसमेंट एजेंसी के द्वारा संविदा कर्मियों ने पीएफ फंड को लेकर आज आरएस इंटर प्राइजेज के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया है। यहां सुबह 8 से 11 बजे तक कार्य बहिष्कार किया। प्लेसमेंट कंपनी द्बारा लगाए गए संविदा कर्मी कम्प्यूटर ऑपरेटर ट्रॉली पुलर सहित अस्पताल में कई तरह के काम करते हैं। संविदा कर्मियों के कार्य बहिष्कार के कारण पूरे अस्पताल की व्यवस्था ख़राब हो गई। मरीज़ इधर उधर घूमते दिखाई दिए। मरीजों को इलाज़ के लिए न तो टिकट मिला और न ही दवाएं। हालांकि इस दौरान संविदा कर्मियों में इमरजेंसी मरीजों को देखते हुए सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध रखी थीं।

दरअसल, आर एस इंटरप्राइजेज द्वारा जिला आरबीएम अस्पताल, जनाना अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में करीब 120 संविदाकर्मी कार्य कर रहे हैं। एजेंसी के मालिक राजीव हर महीने कर्मचारियों की तनख्वाह में से पीएफ और ईएसआई के पैसे काटता है। 9115 रुपए में से कर्मचारियों को मात्र 6705 रुपये मिलते हैं। कर्मचारियों की खाते में न तो पीएफ की रुपए जमा हो रहें हैं, न ईएसआई। इतना ही नहीं कई कर्मचारियों का तो पीएफ अकाउंट भी नहीं है। उसके बावजूद भी उनकी तनख्वाह से हर महीने राशि काटी जा रही है। किसी भी कर्मचारियों को ईएसआई कार्ड भी बनाकर नहीं दिए गए हैं।

अब कर्मचारियों की मांग है की उन्हें उनकी काटी गई राशि का हिसाब दिया जाए या फिर उनको उनके पैसे वापस दिए जाएं। अगर आर एस इंटरप्राइजेज का मालिक राजीव अस्थाई कर्मचारियों की मांग नहीं सुनता तो कर्मचारी आज से 9 जून तक 3 घंटे का कार्य बहिष्कार करेंगे। और उसके बाद वह अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे।