पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चर्चा:बच्चों को भरोसा दिलाएं पुलिस उनकी दोस्त : राजावत

भरतपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • उच्चैन थाना परिसर में बाल सुरक्षा वॉलंटियर्स की हुई बैठक, समस्याओं को लेकर पुलिस से रूबरू हुए बच्चे

भरोसा कार्यक्रम के तहत बुधवार को उच्चैन थाना परिसर में बाल सुरक्षा वॉलंटियर्स की बैठक एसएचओ नरेन्द्रसिंह राजावत की अध्यक्षता में हुई। जिसमें बाल सुरक्षा वाॅलंटियर्स पुलिस से बालकों की सुरक्षा एवं गांवों की समस्याओं को लेकर रूबरू हुई और पुलिस थाने पर पुलिस की कार्यप्रणाली, एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया, आमजन के प्रति पुलिस की कार्यशैली एवं परिवादों के निस्तारण संबंधी कार्यों के बारे में जाना। उच्चैन थाना क्षेत्र के बीस गांवों से आई वाॅलंटियर्स ने निडर होकर अपने-अपने गांवों के लाइव मैप के जरिए बाल सुरक्षा मुद्दों व सुझावों को एसएचओ व बाल कल्याण अधिकारी के साथ साझा किया।

भरोसा कार्यक्रम की कोर्डिनेटर जैनीफर, सुनील व पुष्पा ने वॉलंटियर्स को सुपर स्मार्ट शक्ति के तहत मेरी सुरक्षा योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बच्चों को कब, कहां असुरक्षा महसूस होने पर सुरक्षा के उपाय करने, पुलिस को सूचना देने एवं खतरें समय खुद को बचाने, बच्चों को खतरों के संकेत, सुरक्षा चक्र के बारे में बताया।

इस अवसर पर एसएचओ नरेन्द्रसिंह ने कहा कि बच्चों के साथ होने वाले अपराधों को रोकने के लिए पुलिस हरसंभव प्रयासरत है, इसलिए वाॅलंटियर्स बच्चों के साथ मिलकर ऐसा माहौल तैयार करें, जिससे बच्चों में सुरक्षा का वातावरण बन सके। बच्चों में पुलिस के प्रति डर को दूर करने के लिए भरोसा बनाए कि पुलिस उनकी दोस्त है, जिससे वह अपने साथ होने वाले दुर्व्यवहार व अपराध के बारे में पुलिस को जानकारी दे सके।

साथ ही बच्चों को गुड टच एवं बैड टच व बेखौफ होकर मुकाबला करने के बारे में समझाएं। बाल सुरक्षा वाॅलंटियर्स ने थाना परिसर का भ्रमण कर पुलिस की गतिविधियों, उनके कार्यों को जाना और थाना क्षेत्र के गांवों का मैप देखा। एसएचओ ने बाल सुरक्षा वाॅलंटियर्स को पुलिस सहायता के लिए सरकारी नंबर साझा किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें