• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • Putting Pictures Of Girls On Facebook, We Find Rich And Old People, Become Girls, Do Sweet Things, Do Blackmailing After Showing Videos

कैमरे के सामने सबसे बड़े ठग:FB पर लड़कियों की फोटो डालकर ढूंढते हैं अमीर लोग, लड़की बनकर मीठी बातें करते हैं, वीडियो दिखाकर करते हैं ब्लैकमेल

भरतपुर2 महीने पहलेलेखक: गौरव माथुर
कैमरे के सामने टटलूबाज।

राजस्थान का मेवात इलाका। यह वो एरिया हैं, जो ‘टटलूबाजों’ यानी ठगों के गढ़ के नाम से जाना जाता है। पोर्न वीडियो से लेकर ऑनलाइन कॉमर्शियल साइट से कैसे ठगी करनी है और कैसे जाल में फंसाना है, ये सब कुछ प्लान होता है। यहां एक या दो नहीं, पूरा इलाका टटलूबाजों का माना जाता है। यहां के अनपढ़ लोग पूरे देश में ठगी का सबसे बड़ा नेटवर्क चलाते हैं। अमीर से लेकर गरीब और जवान से लेकर बूढ़े तक ऐसा कोई नहीं जिसे इन्होंने ठगा नहीं।

हाल में अलवर में 16 करोड़ के ठगी के खुलासे के बाद दैनिक भास्कर की टीम इन ठगों के गांव तक पहुंची। यहां जाना किसी खतरे से कम नहीं था, क्योंकि पूरा इलाका ठगों का है। किडनैपिंग और फिरौती इनके लिए आम बात है। इन टटलूबाज की कहानी शुरू होती है अमीर और बूढ़े आदमियों को फंसाने से। किसी को पोर्न वीडियो दिखाकर तो किसी को महंगा सामान सस्ते में बेचकर शुरू करते हैं। टीम इस गांव में पहुंची तो एक टटलूबाज मिला। उसने बताया कि कैसे वो ठगी के इस बड़े नेटवर्क को चलाते हैं।

पुलिस द्वारा टटलूबाजों से बचने के लिए लगवाई गई होर्डिंग्स।
पुलिस द्वारा टटलूबाजों से बचने के लिए लगवाई गई होर्डिंग्स।

टटलूबाज ने बताया
सबसे पहले फेसबुक पर लड़की के नाम फेक आईडी बनाने हैं, जिसमें खूबसूरत लड़की के फोटो डालते हैं और इसके बाद दूसरे स्टेट के अधेड़, बूढ़े और अमीर लोगों की तलाश करते हैं। जब उन्हें ऐसा कोई मिल जाता है तो पहले फेसबुक पर बात करते हैं और इसके बाद उसका वॉट्सऐप नंबर लेकर बात करना शुरू कर देते हैं। खास बात यह है कि कोई भी लड़का हमेशा लड़की की आवाज में बात करता है। मीठी-मीठी बात करके उसे अपने जाल में फंसा देते हैं। अपने प्रेम जाल में ऐसा फांस लेते है कि सामने वाला अपनी पर्सनल बातें भी शेयर कर लेता है।

पोर्न वीडियो दिखाकर बनाते हैं उसका वीडियो
व्यक्ति जब टटलूबाजों से बातें करना शुरू करता है, वह पूरी तरह से उनकी बातों में आ जाता है। टटलूबाज व्यक्ति को ऑनलाइन पोर्न वीडियो दिखाना शुरू करता है। दूसरे फोन से सामने वाले को वीडियोकॉल किया करते है और अश्लील हरकतें की जाती हैं। पोर्न फिल्म चलाने वाले फोन को दूसरे फोन के कैमरे पर इस तरह सेट किया जाता है कि व्यक्ति को लगता है सामने कोई लड़की बैठी है। इस दौरान टटलूबाज पोर्न मूवी में लड़की का चेहरा छुपा देते हैं पोर्न मूवी देखकर जब व्यक्ति खुद अश्लील हरकतें करना लगता है तो तीसरा व्यक्ति उसका वीडियो बनाने लगता है।

और शुरू होता है ब्लैकमेलिंग का खेल
यह सब कुछ शुरू होने के बाद ब्लैकमेलिंग का खेल शुरू होता है। उसके वॉट्सएप पर उसका वीडियो भेजा जाता है। इसके बाद शुरू होती है लाखों रुपए की डिमांड। पीड़ित को उसका वीडियो दिखा लाखों रुपए मांगते हैं और नहीं देने पर वीडियो वायरल करने की धमकी देते हैं। इतना ही नहीं, जब रुपए नहीं आते हैं तो उसे वीडियोकॉल कर उसका वीडियो यू-ट्यूब पर दिखाया जाता है और पीड़ित बदनामी के डर से रुपए देने के लिए तैयार हो जाता है।

टीम पहुंची उससे कुछ घंटों पहले ही 20 लाख का टटलू काटा
टटलू यहां की प्रचलित भाषा है। इसे सीधे तौर पर ठगी कहते हैं। ठगी करने वालों को टटलूबाज यानी ठग कहां जाता है। टीम जब इस गांव में पहुंची तो एक टटलूबाज ने बताया कि पोर्न वीडियो दिखा कुछ घंटे पहले ही दूसरे राज्य के एक बड़े व्यापारी का टटलू काटा (ठगी की)। ठगों ने बताया कि बदनामी के डर से उसने उनके खाते में 20 लाख रुपए जमा करवाए हैं और एक बार फिर उसका अश्लील वीडियो दिखा टटलू काटेंगे।

हर घर में एक ठग
मेवात इलाका टटलूबाजों का गढ़ माना जाता है यहां गांव के युवा टटलूबाजी करते हैं। मेवात इलाके में जाने के बाद इनको पहचानना मुश्किल है इसके अलावा इनको पकड़ना काफी मुश्किल है, क्योंकि यह अपने आसपास के इलाकों में लोगों को नहीं फंसाते जिससे भरतपुर जिले में इनके खिलाफ FIR काफी काम दर्ज होते हैं। टटलूबाज सिर्फ दूर के राज्यों के लोगों को ही अपना शिकार बनाते हैं, जिससे दूसरे राज्यों की पुलिस जब गांव में दबिश देने आती है तो या यह उन पर हमला कर देते हैं या फिर उनके हाथ नहीं आते।

हाल ही में 5 ठगों को किया था गिरफ्तार
सीकरी थाना पुलिस ने 6 अगस्त को हुसेपुर गांव में महमूद नाम के व्यक्ति के घर दबिश दी। पुलिस को सूचना मिली थी कि गांव में महमूद नाम के व्यक्ति के घर कुछ टटलूबाज बैठ कर लोगों को फंसा रहे हैं। पुलिस को देख टटलूबाज महमूद के घर से भाग खड़े हुए। इसके बाद पुलिस ने पीछा कर 5 टटलूबाजों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार टटलूबाज में से 4 सीकरी थाना इलाके के रहने वाले हैं बाकी का एक टटलूबाज अलवर जिले का रहने वाला है।

महाराष्ट्र में बैठी महिला से की थी ठगी
कुछ महीने पहले ही मेवात में बैठे एक टटलूबाज ने महाराष्ट्र में बैठी महिला को ठग लिया था। ऑनलाइन शराब और स्कीम का झांसा देकर उसे लाखों रुपए ठगे। मामला दर्ज हुआ तो टीम यहां पहुंची और उसे गिरफ्तार किया। ऐसा ही एक मामला इसी इलाके से आया था, जिसमें ठग ने मुंबई के एक पुलिस कर्मचारी से ठगी कर ली थी।

खबरें और भी हैं...