पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेलवे की अच्छी पहल:रेलवे ने केवल 1 मिनट के लिए भरतपुर में रोकी स्पेशल ट्रेन, तब घर पहुंची 5 दिन से फंसी बेटी

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धौलपुर. माता पिता के साथ क्रिस्टीना एलिजाबेथ। - Dainik Bhaskar
धौलपुर. माता पिता के साथ क्रिस्टीना एलिजाबेथ।
  • केरल से 21 जुलाई के अकेली रवाना हुई थी छात्रा, मुंबई के पास लैंड स्लाइडिंग होने से फंस गई थी

कोचूवेली-अमृतसर स्पेशल वीकली ट्रेन का ठहराव नहीं होते हुए भी रेलवे 1 मिनट के लिए उसे भरतपुर स्टेशन पर रोका। तब जाकर 5 दिन से ट्रेनों में फंसी हमारी बेटी क्रिस्टीना एलिजाबेथ सही-सलामत अपने घर पहुंच सकी। उसकी चिंता में परेशानी माता-पिता को भी इससे राहत मिली। दरअसल, भरतपुर के सेंट पीटर्स स्कूल में रहने वाली क्रिस्टीना 21 जुलाई को केरल से त्रिवेंद्रम-निजामुद्दीन एक्सप्रेस से रवाना हुई थी। उसे 23 जुलाई को भरतपुर पहुंचना था।

क्रिस्टीना के मुताबिक यह ट्रेन जब राजस्थान आ रही तो मुंबई के पास लैंड स्लाइडिंग हो गई। बड़े-बडे़ पत्थर ट्रेन पर आकर गिरे। इससे यात्रियों में घबराहट फैल गई। ट्रेन को रोक दिया गया। वह करीब 14 घंटे तक वहीं अन्य यात्रियों के साथ फंसी रही। इधर, ट्रेन में फंसने की सूचना के बाद माता-पिता की चिंताएं भी बढ़ गई थीं।

मुंबई के पास फंसे यात्रियों की मदद के लिए रेलवे ने कोचूवेली-अमृतसर स्पेशल वीकली ट्रेन को डायवर्ट किया। क्रिस्टीना समेत कई यात्री इस ट्रेन में बैठ गए। लेकिन, इस ट्रेन का रूट भी गाेवा, मंगलापुरम, मैसूर, मध्य प्रदेश, राजस्थान होते हुए अमृतसर तक था। ट्रेन में सफर के दौरान पता चला कि इस ट्रेन का तो भरतपुर में स्टॉपेज ही नहीं है। कोटा के बाद सीधे निजामुद्दीन ही जाकर रुकेगी। उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था, क्योंकि ट्रेन में इंटरनेट काम नहीं कर रहा था।

कई लोगों ने की मदद
यहां सेंट पीटर्स स्कूल में शिक्षक शाह जोसेफ और मिली जोसेफ ने ट्रेन में फंसी बेटी की मदद के लिए बयाना के बीडीओ लखनसिंह, रेलवे सलाहकार समिति सदस्य राघवेंद्र उपाध्याय और अशोक मित्तल ने मदद की।

छात्रा के लिए ट्रेन रोकने से कर दिया था इनकार
राघवेंद्र के मुताबिक रेलवे अधिकारियों के राजी होने के 1 घंटे बाद फिर बयाना बीडीओ का फोन आया कि कोटा डीआरएम ने स्पेशल ट्रेन को 1 यात्री के लिए भरतपुर स्टेशन पर रोकने से इनकार कर दिया है। बाद में रेलवे उच्चाधिकारियों ने 26 जुलाई को सुबह 4 बजे यह ट्रेन भरतपुर स्टेशन पर 1 मिनट के लिए रुकी।

खबरें और भी हैं...