पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

'हाथ' में आए निकाय नतीजे, मुरझा गया कमल:निकाय चुनाव: भाजपा ने खराब प्रदर्शन में कांग्रेस को भी पीछे छोड़ा, कांग्रेस 14 से 36 पर पहुंची तो भाजपा 34 से 12 पर आ गई

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कांग्रेस को 50 में से 14 निकायों में बहुमत मिला था, 22 निर्दलीयों का साथ पाकर सबसे आगे

राजनीति में जो दिखता है, वो होता नहीं, जो होता है, वो दिखता नहीं, इसका ताजा उदाहरण हैं रविवार को घोषित हुए 12 जिलों के 50 निकायों में चेयरमैन चुनाव के नतीजे। पिछले रविवार 50 निकायों (43 नगर परिषद व 7 नगर पालिका) के नतीजों में 32 निकायों में निर्दलीयों, 14 में कांग्रेस और 4 में भाजपा को बहुमत मिला था। मगर चेयरमैन चुनाव के नतीजों में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा 36 सीटों पर कब्जा जमाया, जबकि भाजपा 12 पर ही सिमट गई।

वहीं, 2 जगह निर्दलीय चेयरमैन बने। भाजपा के लिए ये बड़ा झटका इसलिए है, क्योंकि 2015 में इन 50 में से 34 निकायों में भाजपा के चेयरमैन थे, 14 में कांग्रेस और दो में निर्दलीय काबिज थे। इस बार कांग्रेस ने 22 निकायों में निर्दलीयों के सहयोग से चेयरमैन के 36 पद हासिल किए। वहीं, भाजपा सिर्फ 8 निकायों में ही निर्दलीयों का साथ लेकर 12 पर ही रह गई। जबकि 32 निकायों में बहुमत हासिल करने के बाद भी निर्दलीय केवल 2 में ही अपना चेयरमैन बना सके।

कहां कौन जीता:

अलवर नगर पालिका

1बहरोड़सीताराम यादवकांग्रेस
2खैरथलहरीश रोघाभाजपा
3खेड़लीसंजयभाजपा
4किशनगढ़ बासतारामणिभाजपा
5राजगढ़सतीश दुहरियाभाजपा
6तिजाराझब्बु राम सैनीकांग्रेस

बारां निकाय

1बारांज्योति पारसकांग्रेस
2अंतामुस्तेफा खानकांग्रेस

भरतपुर नगर पालिका

1बयानाविनोद कुमारकांग्रेस
2भुसावरसुनीता देवीकांग्रेस
3डीगनिरंजन लालकांग्रेस
4कामांगीता देवीकांग्रेस
5कुम्हेरराजीवकांग्रेस
6नदबईहरवती देवीकांग्रेस
7नगररामवतारकांग्रेस
8वैरविष्णु महावरकांग्रेस

धौलपुर नगर निगम

1धौलपुरखुशबू सिंहनिर्दलीय
2बाड़ीकमलेश जाटवकांग्रेस
3राजाखेड़ाविरेंद्र सिंहकांग्रेस

दौसा नगर पालिका

1दौसाममता चौधरीकांग्रेस
2बांदीकुईइन्द्रा बैरवाकांग्रेस
3लालसोटरक्षा मित्रकांग्रेस

श्रीगंगानगर नगर पालिका

1अनूपगढ़प्रियंकाभाजपा
2सादुलशहरकांता खीचड़भाजपा
3पदमपुररूबी मिगलानीकांग्रेस
4श्रीविजयनगरराजेंद्र लेघाभाजपा
5गजसिंहपुरचमकौर सिंहकांग्रेस
6रायसिंहनगरमनीषमोहनभाजपा
7श्रीकरणपुरकाका बंसलकांग्रेस
8केसरीसिंहपुरसुमित अग्रवालकांग्रेस

जयपुर नगर पालिका

1शाहपुराबंशीधर सैनीकांग्रेस
2विराट नगरसुमिता सैनीकांग्रेस
3चौमूंविष्णु सैनीकांग्रेस
4कोटपूतलीपुष्पा सैनीकांग्रेस
5चाकसूकमलेश बैरवाकांग्रेस
6फुलेरासंगीता अग्रवालकांग्रेस
7सांभरबालकिशनकांग्रेस
8किशनगढ़ रेनवालअमित कुमार जैनकांग्रेस
9बगरुमालूराम मीणानिर्दलीय
10जोबनेरमंजू देवीकांग्रेस

जोधपुर नगर पालिका

1बिलाड़ारूपसिंह सीरवीभाजपा
2पीपाड़समुदेवी सांखलाकांग्रेस

कोटा नगर पालिका

1इटावारजनी सोनीभाजपा
2रामगंजमंडीदेबीलाल सैनीकांग्रेस

सवाई माधोपुर नगर पालिका

1सवाई माधोपुरविमल महावरकांग्रेस
2गंगापुर सिटीशिवरतनभाजपा

करौली नगर पालिका

1करौलीरसीदा खातूनकांग्रेस
2हिंडौनब्रिजेश जाटवकांग्रेस
3टोडाभीमअमृता मीणाकांग्रेस

सिरोही नगर पालिका

1आबूरोडमगनदान चारणभाजपा

गौरतलब है कि प्रदेश के 12 जिलों की 50 नगर निकायों (43 नगर पालिका और 7 नगर परिषद) में अध्यक्ष चुने जा रहे हैं। जिसके लिए 2622 मतदान केंद्रों पर कुल 14 लाख 32 हजार 233 मतदाता ने मतदान किया था।

43 में से 31 नगरपालिका और 7 में 5 नगर परिषद में कांग्रेस का बोलबाला

कांग्रेस; बारां, दौसा, करौली, हिंडौन, स. माधोपुर नगर परिषद।
बहरोड, अंता, तिजारा, बयाना, भुसावर, डीग, कामां, कुम्हेर, नदबई, नगर, वैर, बांदीकुई, लालसोट, बारी, राजाखेडा, चाकसू, चौमूं, जोबनेर, किशनगढ़ रेनवाल, कोटपूतली, फुलेरा, सांभरलेक, शाहपुरा, विराटनगर, पीपाड़ सिटी, टोडाभीम, रामगंज मंडी, केसरीसिंहपुर, करनपुर, पदमपुर व गजसिंहपुर नगरपालिका।
भाजपा; गंगापुर सिटी परिषद।
किशनगढ़बास, खेरथल, खेरली, राजगढ़, रायसिंहनगर, अनूपगढ़, विजय नगर, सादुलशहर, बिलाडा, इटावा, आबूरोड नगरपालिकाओं में भाजपा ने अपने चेयरमैन बनाया।
निर्दलीय; धौलपुर नगरपरिषद और बगरू नगरपालिका निर्दलीयों के पास।

भाजपा 24% पर ही सिमट गई : डोटासरा

^आज राजस्थान के 50 निकाय चुनावों में चेयरमैन के चुनाव समाप्ति के बाद कांग्रेस 36 जगह बोर्ड बनाने में सफल रही और भाजपा केवल 12 बोर्डों के साथ 24% पर सिमट गई। मैं सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को इसके लिए धन्यवाद देता हूं।
- गोविंद सिंह डोटासरा, प्रदेशाध्यक्ष, कांग्रेस

सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया: राठौड़

^निकाय चुनाव में कांग्रेस ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयाेग करके चुनाव जीता है। पहली बार निकाय चुनाव में सरकार के स्तर पर बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की गई। कांग्रेस ने छद्म रूप से जनादेश प्राप्त किया है। प्रदेश की जनता सब देख रही है।
- राजेंद्र राठाैड़, उप नेता प्रतिपक्ष, भाजपा

वजह; अधिकांश निर्दलीयों को कांग्रेस ही क्यों पसंद?

  • प्रदेश में कांग्रेस सरकार है। इसलिए अधिकांश निर्दलीय कांग्रेस के पाले में चले गए।
  • डीग-कुम्हेर सहित कई स्थानों पर कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी नहीं उतारे थे। वार्डों को ओपन छोड़ दिया। यहां जीते हुए निर्दलीय कांग्रेस के ही थे और उन्होंने चेयरमैन चयन में कांग्रेस का खुलकर साथ दिया।

असर; आगामी चुनावों के लिए मनाेवैज्ञानिक बढ़त

  • पंचायत चुनाव में हार झेलने के बाद कांग्रेस के लिए ये जीत उत्साह बढ़ाने वाली है।
  • 72% निकायों में चेयरमैन बनने से कांग्रेस को आगामी चुनाव में मनोवैज्ञानिक बढ़त मिलेगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

और पढ़ें