पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बदलाव:बार में बदले नियम, अब एक टेबल पर बैठेंगे दो ही लोग

भरतपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • खाने-पीने के शौकीनों पर कोरोना का असर, आधी रह गई शराब की बिक्री, 2 संचालकों ने लाइसेंस रिन्यू नहीं कराए

कोरोना संक्रमण का असर खाने-पीने के शौकीनों पर भी पड़ा है। मेडिकल गाइड लाइन और बढ़ी हुई कीमतों के कारण होटल एवं रेस्ट्रो बार में शराब की बिक्री आधी रह गई है। जिले की 13 में से 2 बार संचालकों ने तो अपने लाइसेंस ही रिन्यू नहीं कराए हैं। जिन 11 बार संचालकों ने फरवरी में ही लाइसेंस रिन्युवल करवा लिए थे, अब उनकी परेशानी भी यह है कि रिन्युवल फीस तो दूर बिजली-पानी के बिल और कर्मचारियों की सैलरी तक निकालनी मुश्किल हो रही है।

जाहिर है, इसका असर राज्य सरकार को मिलने वाली राजस्व राशि पर भी पड़ेगा। इन बार संचालकों का कहना है कि करीब 95 दिन बंद रहने के बाद सरकार के आदेश से अनलॉक में बार और रेस्टोरेंट चालू तो हो गए हैं। लेकिन, अभी मयखाने में आने वालों की संख्या कम ही है। कीमतें बढ़ने से बिक्री पर पड़ा असरः कोरोना काल में शराब की कीमतें बढ़ने से भी होटल और रेस्ट्रो बार की बिक्री काफी प्रभावित हुई है।

बार संचालक बताते हैं कि पहले 127 रुपए में मिलने वाली बीयर अब 160 रुपए की हो गई है। इसी तरह शराब की रेट में भी 400 से 700 रुपए प्रति बोतल तक का इजाफा हुआ है। लॉकडाउन में नौकरियां जाने और व्यवसाय प्रभावित होने के कारण लोगों की आमदनी घटी है। इस कारण भी बार में आने वालों की संख्या कम हुई है।

सोशल डिस्टेंसिंग लागू, 3 से 5 फीट की दूरी पर बैठना होगा
शहर के बार संचालकों ने सरकार की मेडिकल गाइड लाइन के मुताबिक बार की सिटिंग व्यवस्था में कई तरह के बदलाव किए हैं। होटल बार गिर्राज विला, अनौखी, पार्क पैलेस, सारस एवं रेस्टोरेंट बार संचालकों का कहना है कि पहले की तुलना में सिटिंग के लिए टेबल आधी रह गई हैं। पहले एक टेबल पर चार लोग बैठ सकते थे, अब केवल दो जनों को ही बैठने की छूट है। दोनों के बीच 3 से 5 फीट की दूरी रखी गई है। साथ ही मास्क और सेनेटाइजर की भी व्यवस्था है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें