पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खबर का असर:मेडिकल कॉलेज से आज से लौटेंगे कुछ नर्सिंग कर्मी, सुधरेगी व्यवस्था

भरतपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 9 अक्टूबर से आरबीएम अस्पताल में नहीं आ रहे थे 83 नर्सिंगकर्मी, ट्रेनिंग के लिए गए थे मेडिकल कॉलेज

सरकार द्वारा कोविड-19 के हालात देखते हुए आरबीएम अस्पताल में लगाए गए 89 नर्सिंग कर्मियों में से ज्वाइन करने वाले 83 नर्सिंग कर्मियों को मेडिकल कॉलेज में ट्रेनिंग के नाम पर बुलाने से अस्पताल की व्यवस्थाएं बिगड़ गईं। अब गुरुवार से ट्रेनिंग पर गए कुछ नर्सिंग कर्मी आरबीएम अस्पताल ड्यूटी पर लौट आएंगे और बाकी सभी 16 अक्टूबर को अपनी-अपनी ड्यूटी पर अस्पताल में आ जाएंगे। उल्लेखनीय है कि भास्कर ने 14 अक्टूबर के अंक में ‘यह कैसी ट्रेनिंग... रिटायरमेंट की एज में नर्सिंग कर्मियों को बता रहे हैं बीपी कैसे चैक करते हैं’ शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी।

आरबीएम अस्पताल में ज्वाइन करने वाले 83 नर्सिंग कर्मी 9 अक्टूबर से नहीं आ रहे थे जिसमें रिटायरमेंट के नजदीक और 15-20 साल अस्पतालों में फर्स्ट और सेकंड ग्रेड की नौकरी करने वाले नर्सिंग कर्मियों को बीपी चेक करना, पीपीई किट, ग्लब्स और मास्क पहनना आदि सिखाने के लिए मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ रजत श्रीवास्तव ने बुला लिया था। जिसका नर्सिंग एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रविंद्र चौधरी ने भी विरोध जताया था।

राज्य सरकार ने संभाग के विभिन्न जिलों में कार्यरत अनुभवी सेकंड और फर्स्ट ग्रेड के 50 नर्सिंग कर्मियों को कोरोना के हालात को देखते हुए आरबीएम अस्पताल में तत्काल ड्यूटी देने के लिए लगाया था। जिसमें से 44 नर्सिंग कर्मियों ने ड्यूटी भी ज्वाइन कर ली। जिनमें से 25 अनुभवी नर्सिंग कर्मियों को कोरोना वार्ड में लगा दिया गया और वह बखूबी कार्य कर रहे थे।

इसके अलावा आरबीएम अस्पताल में 10 नर्सिंग कर्मियों को विभिन्न वार्डों में अन्य कार्य में और 8 राजकीय जनाना अस्पताल में कार्य को सुचारू चलाने के लिए लगाया गया था। इसके अलावा एक अन्य नर्सिंग कर्मी ने हाल ही में ज्वाइन ही किया था। इन सभी को मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ रजत श्रीवास्तव के आदेश पर 9 अक्टूबर से हटाकर मेडिकल कॉलेज में बुला लिया था। यही नहीं हाल ही में राज्य सरकार में 39 नए पद स्थापित नर्सिंग कर्मियों को भी मेडिकल कॉलेज बुला लिया।

कुछ आज, बाकी कल आ जाएंगे सभी नर्सिंग कर्मी: पीएमओ
^मेडिकल कॉलेज में प्रिंसिपल से बातचीत हुई है। गुरुवार से ट्रेनिंग पर गए कुछ नर्सिंग कर्मी आरबीएम अस्पताल ड्यूटी पर लौट आएंगे और बाकी सभी 16 अक्टूबर को अपनी-अपनी ड्यूटी पर अस्पताल में आ जाएंगे। इसके बाद निश्चित रूप से अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार होगा और मरीजों कि और बेहतर देखरेख हो सकेगी।
डॉ नवदीप सैनी, पीएमओ, आरबीएम अस्पताल

खबरें और भी हैं...