पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पर्यूषण पर्व पर विशेष:भरतपुर संग्रहालय में मौजूद है भगवान आदिनाथ की अधिसाष्टि जैन देवी चक्रेश्वरी की 8वीं सदी की प्रतिमा

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उत्खनन में मिली प्रतिमाएं बताती हैं कि यहां जैन संप्रदाय का काफी प्रभाव रहा

पंजाब के सरहिंद स्थित अटेली में विराजमान जैन देवी चक्रेश्वरी की प्रतिमा से भी 400 साल पुरानी प्रतिमा भरतपुर में है। यह मूर्ति 8वीं सदी की है जो वैर में उत्खनन के दौरान मिली थी। इस प्रतिमा को राजकीय संग्रहालय में देखा जा सकता है। जैन समुदाय के सरावगी समाज में चक्रेश्वरी देवी की विशेष मान्यता है। इन्हें प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव यानी भगवान आदिनाथ की अधिसाष्टि देवी के रूप में माना जाता है।

इतिहासकारों के मुताबिक 12वीं सदी के दौरान पृथ्वीराज चौहान के समय मारवाड़ में भीषण अकाल पड़ा। तब सरावगी समुदाय के कुछ लोग पंजाब की ओर गए। उनके साथ चक्रेश्वरी देवी की प्रतिमा भी थी। तब उनका रथ अटेली सरहिंद में रुक गया। रथ के आगे नहीं बढ़ने पर प्रतिमा को वहीं पर स्थापित किया गया। इस मंदिर में देशभर से जैन समुदाय के लोग दर्शन करने जाते हैं। भरतपुर राजकीय संग्रहालय स्थित चक्रेश्वरी देवी की प्रतिमा भी आठवीं सदी की है। बलुआ पत्थर से निर्मित यह प्रतिमा करीब 4 फीट ऊंचाई की है।

जघीना गांव था जैन श्वेतांबरों का प्रमुख केंद्र

गुप्त उत्तर काल में शहर से सटा जघीना गांव श्वेतांबर जैन शाखा का प्रमुख केंद्र माना गया है। यहां मिली भगवान पार्श्वनाथ की प्रतिमा भी राजकीय संग्रहालय में संरक्षित है। बलुआ पत्थर से बनी इस प्रतिमा मैं सर्प छाया दृष्टव्य है। इतिहास की जानकार डॉ सुधा सिंह का कहना है कि कनिष्क काल में भरतपुर जैन सभ्यता और संस्कृति का प्रभावशाली क्षेत्र रहा। गुप्त काल के शासकों का मथुरा शक्ति केंद्र था।

इसलिए अगर प्राचीन टीलों की खुदाई कराई जाए तो उनमें जैन सभ्यता के अवशेष मिल सकते हैं। क्योंकि भरतपुर के जघीना, वैर, भुसावर, कामां, बयाना, ब्रह्मबाद, कटारा, सिरस, बौलखेड़ा, मलाह, नौंह, अघापुर आदि गांवों से भी जैन प्रतिमाएं मिली हैं। इनमें कुछ मूर्तियां भरतपुर और मथुरा के संग्रहालयों में संरक्षित हैं। इनमें कायोत्सर्ग भाव में खड़ी सर्वतोभद्र सहित भगवान आदिनाथ की पांचवी- छठी सदी की प्रतिमाएं भी हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें