रेप पीड़िता ने फिर की सुसाइड की कोशिश:राजीनामा करने का दवाब; दुष्कर्म कर वीडियो सोशल-मीडिया पर डाला था

भरतपुर3 महीने पहले
आरोपियों द्वारा फायरिंग करने के बाद डिप्रेशन में आई रेप पीड़िता ने दूसरी बार की आत्महत्या की कोशिश।

रेप पीड़िता ने दूसरी बार फंदा लगाकर सुसाइड की कोशिश की। मंगलवार देर रात उसने जान देने की कोशिश की लेकिन परिजनों ने बचा लिया। परिजनों का आरोप है कि रेप का आरोपी पीड़िता और उन पर राजीनामा करने का दवाब वना रहा है। 6 नवंबर को घर के बाहर फायरिंग की। फिर घर में घुसकर मारपीट की। रेप के बाद पीड़िता के फोटो वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिए थे। मामला भरतपुर के कामां का है।

पीड़िता के पिता ने कहा कि आरोपियों ने मेरी बेटी पर कई अत्याचार किए। रेप कर फोटो वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिए। बेटी ने दो बार फांसी लगाकर आत्महत्या की कोशिश की। वे लोग दबाव बनाते हैं। बेटी सिलाई की मशीन के काम से बाजार गई थी तब रेप किया। सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दिया।

पिता ने कहा कि 17 अप्रैल को रेप कर 18 को वीडियो शेयर किया तो बेटी ने उसी दिन फंदा लगाकर जान देने की कोशिश की। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कराई लेकिन पुलिस ने 4 में से सिर्फ 2 को पकड़ा। कुछ दिन बाद एक को छोड़ दिया। अब वे लोग दवाब बना रहे हैं। पुलिस ने पैसे लेकर आरोपियों को छोड़ दिया।

आरोपियों ने यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल किया।
आरोपियों ने यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल किया।

जेल से छूटने के बाद पीड़िता के परिजनों से मारपीट
परिजनों का आरोप है कि 6 नबंवर को साहिल और शाकिर रात करीब 9 बजे घर के बाहर पहुंचे और देसी कट्टे से फायरिंग की। इसके बाद रेप पीड़िता के परिजनों ने विरोध किया तो आरोपी साहिल ने अपने 20 लोगों के साथ घर में घुसकर पीड़िता और परिजनों से मारपीट की।

इस दौरान रेप पीड़िता की गर्भवती चाची उसे बचाने आई तो आरोपियों ने गर्भवती महिला से भी मारपीट कर दी। जिससे उसकी भी तबीयत खराब हो गई। आरोपियों ने धमकी दी कि अगर अब वह पुलिस के पास जाएंगे तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा।

क्या हुआ था 17 अप्रैल को
पीड़ित युवती ने 18 अप्रैल को सुसाइड की कोशिश की। इसके बाद 8 नवंबर को फंदा लगाने की कोशिश की। रेप के मामले में कामां थाने में रिपोर्ट दर्ज है। रिपोर्ट के मुताबिक 17 अप्रैल को 21 साल की पीड़िता रात 8 बजे घर का सामान लेने बाजार गई थी। लौटते वक्त रास्ते में गांव के ही जिलशाद, साहिल, साकिर और एक अन्य लड़के ने उसे रोक लिया। वे उसे जबरन सुनसान जगह ले गए।

वहां आरोपियों ने लड़की के कपड़े उतारकर उसके अश्लील वीडियो बनाए। साथ ही धमकी दी कि अगर उसने शोर मचाया तो वह उसके अश्लील वीडियो वायरल कर देंगे। चारों आरोपियों ने लड़की से गैंगरेप किया और उसे वहीं छोड़ दिया। इसके बाद लड़की अपने घर आ गई। उसने अपने परिजनों को घटना के बारे में नहीं बताया।

पीड़िता दो बार आत्महत्या की कोशिश कर चुकी है।
पीड़िता दो बार आत्महत्या की कोशिश कर चुकी है।

18 अप्रैल को अश्लील फोटो किए वायरल
वारदात के दूसरे ही दिन 18 अप्रैल को आरोपियों ने लड़की के अश्लील फोटो वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिए। फोटो वीडियो शेयर होने के बाद लड़की डिप्रेशन में आ गई। उसने 19 अप्रैल को घर में फांसी लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की।

इस दौरान परिजनों ने देख लिया और उसे बचा लिया। लड़की से आत्महत्या करने की वजह पूछी तो उसने घटना के बारे में बता दिया। इसके बाद लड़की के परिजनों ने 19 अप्रैल को चारों आरोपियों के खिलाफ कामां थाने में शिकायत दी। मामले दर्ज होने के बाद पुलिस ने सिर्फ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। इसके बाद आरोपियों के परिजन रेप पीड़िता के परिजनों पर राजीनामा करने का दबाव बना रहे हैं।

यह भी पढ़ें -

जहां रेप हुआ, उस होटल में अक्सर रुकती थी युवती:नर्सिंग छात्रा के साथ हुआ था गैंगरेप, फंदे पर लटकी मिली थी लाश

जोधपुर के जिस होटल में फंदे पर 18 साल की नर्सिंग छात्रा नेहा (बदला हुआ नाम) की लाश मिली, वहां वह अक्सर दोस्तों के साथ ठहरती थी। 2 नवंबर को भी अपने दोस्त मनीष प्रजापत (18) और दूर के नाबालिग रिश्तेदार (कजिन) के साथ वह होटल में रुकी थी। नाबालिग का बर्थ-डे सेलिब्रेट करने के बाद तीनों एक ही कमरे में सो गए थे। रात में बारी-बारी से दोनों ने रेप किया और सुबह भाग निकले। 4 नवंबर को पुलिस ने होटल का दरवाजा तोड़कर नेहा की लाश बरामद की। फिलहाल दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं। (पूरी खबर के लिए क्लिक करें)