• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • The Gehlot Government Will Send 200 Promising Students Of The State To Study At 50 Renowned Educational Institutions Like Oxford, Harvard And Stanford University At Its Own Expense.

भास्कर खास:प्रदेश के 200 होनहारों को गहलोत सरकार अपने खर्चे पर ऑक्सफोर्ड, हार्वर्ड और स्टेनफोर्ड विवि जैसे 50 नामी शैक्षिक संस्थानों में पढ़ने भेजेगी

भरतपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजीव गांधी स्काॅलरशिप फाॅर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना में 22 अक्टूबर से लिए जाएंगे आवेदन

राजस्थान के 200 मेधावी छात्रों को प्रतिवर्ष देश-विदेश के विभिन्न विश्वविद्यालयों/संस्थानों में अध्ययन करने के लिए राजीव गांधी स्काॅलरशिप फाॅर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना-2021 की घोषणा की गई। एमएसजे कॉलेज के प्राचार्य डाॅ. विवेक शर्मा ने बताया कि प्रदेश के 200 होनहार विद्यार्थियों को विदेश की चुनिंदा 50 संस्थानों में उच्च अध्ययन की सुविधा मुहैया कराने की दिशा में उच्च विभाग ने कवायद पूरी कर ली है।

इसके लिए होनहारों से राजीव गांधी स्काॅलरशिप फोर एकेडमिक एक्सीलेंस (आरजीएस) योजना तहत 22 अक्टूबर से आवेदन आमन्त्रित किए गए है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व उच्च शिक्षा राज्य मंत्री भंवरसिंह भाटी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयन्ती पर इस योजना की घोषणा की थी। डाॅ. शर्मा ने बताया कि योजना के तहत ऑक्सफोर्ड, हार्वर्ड एवं स्टेनफोर्ड विवि जैसी दुनिया की नामचीन 50 संस्थानों से स्नातक, स्नातकोत्तर, पीएचडी एवं पोस्ट डाॅक्टोरल स्तर पर अध्ययन के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

विद्यार्थियों के यात्रा किराया, ट्यूशन फीस सहित सम्पूर्ण खर्चा सरकार की ओर से उठाया जाएगा। आवेदन राज्य सरकार के विशेष आरजीएस पोर्टल और वेबसाइट पर कर सकेंगे। पोर्टल पर ही आवेदकों का चयन किया जाएगा। पात्र आवेदकों के 200 से अधिक आवेदन मिलने पर छात्रवृत्ति के लिए लाॅटरी के माध्यम से चयन किया जाएगा। योजना से सम्बन्धित अधिक जानकारी विभागीय वेबसाइट पर देखी जा सकती है।

योजना में प्रतिवर्ष 8 लाख से कम आय वाले परिवार के अभ्यर्थियाें को इन विषयों में मिलेगी स्काॅलरशिप
काॅलेज आयुक्त संदेश नायक ने बताया कि ह्यूमेनिटीज, सोशल साइंस, एग्रीकल्वर एंड फोरेस्ट साइंस, नेचर एंड एनवायरमेंटल सांइस व लाॅ के लिए 150, मैनेजमेंट एंड बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन एवं इकोनोमिक्स एंड फाइनेंस के लिए 25 और साइंस एवं पब्लिक हेल्थ विषयों के लिए 25 विद्यार्थियों को स्काॅलरशिप दी जाएगी। स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों के लिए केवल मानविकी से सम्बन्धित विषयों के अध्ययन के लिए ही छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। हर साल 200 मेधावी विद्यार्थियों में से 30 फीसदी अवार्ड छात्राओं के लिए चिहिन्त रखते हुए 60 छात्राओं को अध्ययन सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इस योजना के तहत प्रति वर्ष 8 लाख से कम पारिवारिक आय वाले अभ्यार्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...