पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्रह-नक्षत्र:कार्तिक पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण 30 को, 4.18 घंटे रहेगा

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चंद्रग्रहण सर्वार्थ सिद्धि व वर्धमान योग रहेगा, इस दौरान सूतक मान्य नहीं होगा, सभी मांगलिक कार्य होंगे

ज्योतिष शास्त्र और विज्ञान के नजरिए से ग्रहण को काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। वैज्ञानिक नजरिए से ग्रहण एक खगोलीय घटना है, जबकि ज्योतिषशास्त्र में बताया गया है कि जब भी ग्रहण लगता है, तब इसका मानव के जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है।

साल 2020 का आखिरी ग्रहण 30 नवंबर को है। यह चंद्रग्रहण होगा और यह एक उपच्छाया ग्रहण के रूप में दिखाई देगा। मचकुंड महंत कृष्णदास ने बताया कि कार्तिक शुक्ल पूणिमा पर उपच्छाया चंद्र ग्रहण वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र में सोमवार को लगेगा। ग्रहण का समय भारतीय समयानुसार दोपहर 1:04 बजे पर एक छाया से पहला स्पर्श।

दोपहर 3 बजकर 13 मिनट पर परम ग्रास चंद्र ग्रहण होगा। शाम 5 बजकर 22 मिनट पर उपच्छाया से अंतिम स्पर्श होगा। इसका कोई सूतक काल नहीं होगा। कार्तिक पूर्णिमा से इस बार विशेष संयोग : कार्तिक पूर्णिमा 30 नवंबर सोमवार को है। कार्तिक मास का सबसे आखिरी दिन होता है। जब पूर्णिमा, स्नान और दान के लिहाज से यह दिन बहुत महत्वपूर्ण होता है। दो शुभ संयोग इस पूर्णिमा को और भी पावन बना रहे हैं। सर्वार्थ सिद्धि योग व वर्धमान योग इस बार कार्तिक पूर्णिमा के दिन रहेंगे। यह चंद्रग्रहण वर्ष 2020 का अंतिम चंद्रग्रहण होगा।

जानें क्या होता है उपच्छाया चंद्रग्रहण
पूर्ण और आंशिक ग्रहण के अलावा एक उपच्छाया ग्रहण भी होता है। जानकारी अनुसार उपच्छाया चंद्र ग्रहण ऐसी स्थिति को कहा जाता है जब चंद्रमा पर पृथ्वी की छाया न पड़कर उसकी उपच्छाया मात्र ही पड़ती है। वहीं इस दौरान चंद्रमा पर एक धुंधली सी छाया नजर आती है। इस घटना में पृथ्वी की उपच्छाया में प्रवेश करने से चंद्रमा की छवि धूमिल सी दिखाई देती है।

जानकारी अनुसार कोई भी चन्द्रग्रहण जब भी आरंभ होता है तो ग्रहण से पहले चंद्रमा पृथ्वी की परछाई में प्रवेश करता है जिससे उसकी छवि मंद पड़ जाती है तथा चंद्रमा का प्रभाव मलीन पड़ जाता है। गौरतलब है कि साल का आखिरी चंद्रग्रहणः उपच्छाया चंद्रग्रहण में किसी भी तरह का सूतक काल मान्य नहीं होगा। जातकों पर इसका प्रभाव मन पर पड़ता है। ग्रहण पर चंद्रमा पीड़ित होते हैं। इसलिए इस समय यह अशुभ फल प्रदान करते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का अधिकतर समय परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन में व्यतीत होगा और काफी समस्याएं हल होने से घर का माहौल पॉजिटिव रहेगा। व्यक्तिगत तथा व्यवसायिक संबंधी कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं भी बनेगी। आर्थिक द...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser