• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • The Sun Has Turned South... Due To Slanting Rays, Now The Heat Will Be Less, From Here The Autumn Will Start, The Days Will Also Start Getting Shorter

सूर्य दक्षिणायन हुए:तिरछी किरणें आने से अब कम होगी तपिश, यहीं से शरद ऋतु की शुरुआत होगी, दिन भी छोटे होने लग जाएंगे

भरतपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दक्षिणायन के समय 22 दिसम्बर को 10.30 घंटे का होगा दिन, जबकि रात 13.30 घंटे की होगी

शुक्रवार को सूर्यदेव दक्षिणायन हो गए। यानी अब पृथ्वी के उत्तरी गोलार्द्ध में सूर्य की किरणें तिरछी आएंगी। इससे सूरज की तपिश कम होगी और मौसम में ठंडक बढ़ने लगेगी। साथ ही दिन की अवधि भी घटने लगेगी। उल्लेखनीय है कि सूर्य के दक्षिण में जाने से दिन छोटे होने लगते हैं। रोज दिन की अवधि घटेगी। 22 दिसंबर को वह दिन आएगा जब दिन की अवधि सबसे कम 10.30 घंटे और रात की सबसे ज्यादा लंबी 13.30 घंटे की होगी।

ज्योतिषाचार्य राम भरोसी भारद्वाज ने बताया कि सूर्य के दक्षिण गोलार्द्ध की ओर जाने से उत्तरी गोलार्द्ध में सूर्य की किरणों की तीव्रता कम हो जाने से शरद ऋतु की शुरुआत हो जाएगी। इसके ठीक विपरीत स्थिति 21 जून को होती है, जब दिन सबसे बड़ा यानी 13.30 घंटे और रात सबसे छोटी यानी 10.30 घंटे की होती है। उल्लेखनीय है कि सूर्य अपनी यात्रा में 23 सितंबर को विषुवत रेखा पर लंबवत होता है। इसके बाद वह दक्षिण की ओर यात्रा शुरू करता है। सूर्य के विषुवत रेखा पर लंबवत होने की स्थिति शरद संपात कहलाती है। शरद संपात गत दिवस रहा, जिसमें दिन और रात की अवधि 12-12 घंटे रही।

अगले सप्ताह 30 डिग्री से नीचे जाएगा तापमान
मौसम की नमी और सूर्य के दक्षिणायन होने के कारण दिन के तापमान में कमी आना प्रारंभ हो गया है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम विशेषज्ञ आरके सिंह का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में 27-28 सितंबर को बन रहे सिस्टम को देखते मानसून अभी अक्टूबर के पहले हफ्ते तक एक्टिव रहेगा। इसका असर यह होगा कि सितंबर के अंत में ही सुबह-शाम नमी आ जाएगी। क्योंकि बारिश ने उमस को खत्म कर दिया है। पहाड़ों पर हुई बर्फबारी का असर भी यहां के मौसम पर पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...