महिला डॉक्टर ने रोगी पीटा:इलाज करते समय पलक झपकने पर महिला डॉक्टर ने रोगी को कई घूंसे मारे

भरतपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कंकड़ गिरने से आंख दिखाने आया था सांतरुक का गोविंद

आंख के इलाज में जांच के दौरान सहयोग नहीं करने पर महिला डॉक्टर ने रोगी से मारपीट कर ली। सांतरुक गांव में रहने वाले 40 वर्षीय गोविंद सिंह का आरोप है कि डॉक्टर ने उसकी आंख पर कई घूंसे मारे और पर्चा फेंककर अस्पताल से बाहर निकलवा दिया। इस संबंध में उसने मथुरा गेट में डॉक्टर निर्मला सिंह के खिलाफ मामला भी दर्ज कराया है। वहीं, डॉक्टर निर्मला ने रोगी के साथ मारपीट के आरोपों को गलत बताया है।

उनका कहना है कि रोगी गोविंद सिंह मेरे परिचित बैंक मैनेजर के माध्यम से आंख दिखाने आया था। चूंकि वह जांच में प्रॉपर सहयोग नहीं कर रहा था। इसलिए बिना फीस लिए उसे वापस लौटा दिया था।

रविवार को यह घटना शहर के विनायक अस्पताल की बताई जा रही है। एफआईआर के मुताबिक ग्राइंडर से पत्थर घिसाई का काम करते वक्त गोविंद सिंह की आंख में कंकड़ चला गया था। इसीलिए वह रविवार को इलाज के लिए विनायक हॉस्पिटल आया था। रजिस्ट्रेशन कराने के बाद वह डॉ. निर्मला सिंह से आंख का इलाज कराने लगा। मैडम ने कहा कि आपकी आंख में पत्थर का टुकडा है। उसे निकालना पड़ेगा। हिलना मत।

लेकिन, आंख में बहुत तेज दर्द था। जैसे ही डाक्टर मैडम आंख से टुकडा निकालने लगीं, तभी पलक झपक गई। इसी बात पर डाक्टर भड़क गई और मेरे मुंह पर 4-5 घूंसे मार दिए। एक घूंसा मेरी आंख पर भी लगा। उन्होंने मुझे कमरे से बाहर निकाल दिया। मेरा पर्चा फेंककर अस्पताल से भगा दिया। मुझे सत्यवीर और लालाराम ने मुझे संभाला।

खबरें और भी हैं...