पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

असुविधा:वृद्धाश्रम में ना तो साफ चादर और तकीया हैं, ना ही दवाईयां

भरतपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजकीय वृद्धाश्रम में आवासियों के लिए ना तो साफ चादर और तकिया हैं और ना ही पर्याप्त दवाइयां। टॉयलेट टूटा हुआ और झाडिय़ां उगी हुई है। यह अव्यवस्था डालसा की ओर से बुधवार को किए गए औचक निरीक्षण में सामने आईं। डालसा सचिव ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक को इन्हें तत्काल दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। डालसा सचिव अजय गोदारा के अनुसार निरीक्षण में उन्हें भवन के बाहर कच्चे परिसर में झाडिय़ां उगी हुई मिलीं।

आवासरत वृद्ध जनों उन्हें बताया कि टायलेट का कमोड टूटा हुआ है। कमरों में कूलर नहीं होने से जीना दूभर हो रखा है। निरीक्षण में सामने आया कि वृद्ध जनों की जांच के लिए नियमित रूप से चिकित्सक भी नहीं आते, ना ही पर्याप्त दवाइयां है। ओढ़ने-बिछाने के चद्दर एवं तकिये भी पर्याप्त नहीं हैं। जो हैं वह भी गंदे हैं। ऐसे में सचिव ने पर्याप्त चद्दर एवं तकिये दिये जाने एवं उन्हें समय-समय पर धुलवाए जाने हेतु निर्देश भी दिये।

खबरें और भी हैं...