खेत के रास्ते को लेकर विवाद, गोली मारने की धमकी:आरोपी ने पीड़ित के घर जाकर दी धमकी, पुलिस बोली- गन नहीं एयर गन थी

भरतपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक हाथ में हथियार और दूसरे हाथ में लाठी लेकर जाता हुआ आरोपी। - Dainik Bhaskar
एक हाथ में हथियार और दूसरे हाथ में लाठी लेकर जाता हुआ आरोपी।

भरतपुर जिले में अवैध हथियारों का चलन बढ़ता जा रहा है। लोग छोटी-छोटी बातों पर एक दूसरे पर हथियार तान रहे हैं। मंगलवार को एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक व्यक्ति एक हाथ में डंडा और एक हाथ में अवैध हथियार लेकर जा रहा है। हथियार हाथ में लेकर जा रहा व्यक्ति गांव के एक व्यक्ति को गोली मारकर मौत के घाट उतारने की धमकी देने गया था। जब पीड़ित पक्ष ने इसकी शिकायत पुलिस से की तो पुलिस का कहना है वह हथियार नहीं एयर गन थी, जिसे जब्त कर लिया गया है। जिसके बाद आज पीड़ित पक्ष एसपी ऑफिस पहुंचा और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

क्या है पूरा मामला
मामला भरतपुर जिले के लखनपुर थाना इलाके के गादौली गांव का है। स्थानीय निवासी प्रकाश चंद ने बताया की उनके खेत के पास प्रदीप के खेत हैं। प्रदीप के खेत में जाने का रास्ता उसके खेत से होकर जाता है। खेत में आवारा जानवर फसल को ख़राब करते हैं, इसलिए उसने रास्ते में एक गेट लगा दिया है। प्रदीप सोमवार को अपने खेत में जा रहा था। इस दौरान उसे रास्ते पर गेट लगा मिला तो उसने गालियां देना शुरू कर दिया। इसके बाद दोनों में कहासुनी हो गई। हालांकि इसके बाद दोनों अपने घर चले गए।

घर आने के बाद हथियार दिखाकर दी धमकी
प्रकाश ने बताया कि घर आने के बाद प्रदीप और उसका बेटा पुनीत एक डंडा और हथियार लेकर उसके घर पहुंचे और उसके परिवार के साथ गाली-गलौज की। प्रदीप ने धमकी दी कि वह उसे 15 दिन के अंदर गोली मार देगा। जब प्रदीप एक हाथ में हथियार और एक हाथ में डंडा लेकर जा रहा था तो किसी ने उसका वीडियो बना लिया। प्रकाश ने लखनपुर थाने में प्रदीप और उसके बेटे पुनीत के खिलाफ शिकायत दी।

पुलिस ने हथियार को बताया एयर गन
शिकायत के बाद पुलिस ने प्रदीप को हिरासत में ले लिया। जब इस मामले पर लखनपुर थाना अधिकारी से बात की तो उन्होंने कहा कि प्रदीप के पास एक एयर गन थी, जिसे जब्त कर लिया गया है। और प्रदीप को शांति भंग के आरोप में बद कर उसे छोड़ दिया गया है।

पीड़ित ने कहा- झूठ बोल रही है पुलिस
उधर पीड़ित पक्ष का कहना है कि प्रदीप के पास असली हथियार था, लेकिन पुलिस मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। इसलिए वह एसपी देवेंद्र विश्नोई के पास आए हैं। एसपी ने पीड़ित की शिकायत सुनने के बाद लखनपुर थाना अधिकारी को जांच के निर्देश दिए हैं।