पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ी:नगर निगम में 5 लाख से ज्यादा के कार्य की थर्ड पार्टी जांच होगी : मेयर

भरतपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीएसआर रेट से 30-40% कम दर पर लिए गए कामों की क्वालिटी को लेकर उठ रहे थे सवाल

नगर निगम में बीएसआर रेट के मुकाबले 30-40 प्रतिशत कम दर पर काम लिए जाने से निर्माण कार्यों की क्वालिटी को लेकर अब मेयर अभिजीत कुमार ने आयुक्त नीलिमा तक्षक को घेरने की रणनीति बनाई है। इसके लिए उन्होंने ऐसे कामों की क्वालिटी की विशेष रूप से और 5 लाख रुपए तक के सभी निर्माण कार्यों की थर्ड पार्टी जांच कराए जाने को कहा है। इस संबंध में उन्होंने आयुक्त नीलिमा तक्षक को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इससे पहले मेयर अभिजीत कुमार भी नगर निगम में करीब 5.25 करोड़ रुपए के टेंडरों में गड़बड़ी और अनियमितताओं के आरोप लगा चुके हैं।

मेयर अभिजीत कुमार ने बताया कि आयुक्त को यह भी कहा गया है कि कोई भी निर्माण कार्य शुरू होने से पहले प्रत्येक कार्यस्थल की फोटोग्राफी करवाकर उसे पत्रावली में लगाया जाए। साथ ही वहां पर निर्माण संबंधी सूचना पट्ट लगाया जाना चाहिए। जिसमें कार्य का विवरण, स्वीकृत राशि, गारंटी पीरियड, संवेदक का नाम, मोबाइल नंबर, अभियंता का नाम, मोबाइल नंबर, कार्य शुरू एवं खत्म होने की तिथि अंकित हो। ताकि शहर के लोगों को भी उस काम, उसे करने वाले ठेकेदार और इंजीनियर के बारे में पूरी जानकारी हो।

प्रत्येक कार्य स्थल पर सूचना पट्ट भी लगाने के दिए निर्देश

अपील - खराब काम की मुझे शिकायत करें
इधर, मेयर अभिजीत कुमार ने शहर के लोगों से अपील की है कि उनके क्षेत्र में अगर ठेकेदार द्वारा खराब काम किया जा रहा है तो उसकी शिकायत दस्तावेजों के साथ सीधे मुझे भेजें। उन्होंने वादा किया है कि शिकायतकर्ता की पहचान गोपनीय रखी जाएगी। मेयर ने आयुक्त से 3 दिन में ऐसे पार्षदों की भी सूची मांगी है, जो प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष रूप से ठेकेदारी कार्य से जुडे़ हुए हैं। उनके परिजन/रिश्तेदार ठेकों में हित रखते हैं उनके नाम, फर्म का नाम एवं पंजीकरण संख्या आदि सूचनाएं भी दी जाएं।

मेयर और आयुक्त की लड़ाई में ठेकेदारों को बनाया गया था टारगेट
इससे पहले रविवार को कुछ ठेकेदारों ने मीटिंग करके कहा था कि मेयर और आयुक्त अपने वर्चस्व की लड़ाई में उन्हें अनावश्यक रूप से टारगेट न बनाएं। इससे शहर के विकास कार्य ही प्रभावित होंगे। उल्लेखनीय है कि चैक पर काउंटर साइन करने और मेयर के प्राइवेट ऑफिस के लिए फर्नीचर खरीद को लेकर शुरू हुई तल्खी अब मेयर और आयुक्त में वर्चस्व की लड़ाई बन गई है। इस विवाद में कुछ पार्षद भी कूद चुके हैं।

इधर, आयुक्त के खिलाफ एससीएसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज

पार्षद नरेश जाटव की शिकायत पर मथुरा गेट पुलिस ने सोमवार को नगर निगम आयुक्त नीलिमा तक्षक के खिलाफ जाति सूचक शब्दों से अपमानित करने यानि एससीएसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया। इससे पुलिस ने इस शिकायत को प्रारंभिक जांच में रखा हुआ था। वहीं आयुक्त नीलिमा की ओर से भी पार्षद नरेश जाटव और उसके साथियों के खिलाफ कार्यालय में घुसकर अभद्रता करने एवं राजकार्य में बाधा डालने की शिकायत पुलिस को दी हुई है।

उल्लेखनीय है कि 21 अक्टूबर को पार्षद नरेश जाटव और आयुक्त नीलिमा तक्षक में कार्यालय में झगड़ा हो गया था। आरोप है कि निगम के एक ठेकेदार कृष्णा कंस्ट्रक्शन को वार्ड नंबर 37 में कोतवाली चौराहे से बासन गेट एवं एक अन्य बड़े मोहल्ले में नाली निर्माण का टेंडर दिया गया था। वर्क ऑर्डर लेने के बावजूद ठेकेदार ने चार महीने तक काम ही शुरू नहीं किया जबकि उसे यह काम 17 अक्टूबर को पूरा करना था।

दो नोटिस देने के बाद आयुक्त ने इस ठेकेदार फर्म को निगम की निविदाओं से वंचित डीवार कर दिया था। पार्षद नरेश जाटव कुछ लोगों को साथ लेकर उनके ऑफिस में ठेकेदार को डी वार का विरोध करने गया था। जहां उसकी आयुक्त से कहासुनी हो गई थी।

इधर, इस विवाद को लेकर कुछ पार्षद आयुक्त के खिलाफ लामबंद हो गए हैं। इन पार्षदों ने सोमवार को भी मीटिंग करके आयुक्त नीलिमा के निलंबन की मांग की है। मीटिंग में मोती सिंह, विष्णु मित्तल, सुरेंद्रसिंह, मुकेश जाटव, चतरसिंह सैनी, किशोर सैनी आदि मौजूद थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें