भागवत कथा कलश यात्रा कि शुरुआत:7 दिन तक लगातार भागवत अवश्य सुने

रूपवास11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कस्बे के मेला मैदान स्थित रिसोर्ट में रविवार को भागवताचार्य लक्ष्मीनारायण शास्त्री की 7 दिवसीय भागवत कथा कलश यात्रा से शुरू हो गयी। इस दौरान 101 महिलाएं सिर पर कलश धारण करके बैंडबाजों के साथ यात्रा में निकली। भागवताचार्य लक्ष्मीनारायण शास्त्री को विधि विधान से पूजा अर्चना कर घोड़ी पर बैठाया। भागवत कथा में परीक्षित बने सेवानिवृत्त ग्राम विकास अधिकारी शशिकांत वशिष्ठ ने श्रीमद्भागवत कथा को अपने सिर पर धारण महादेव चौक के पास धरती पूजन किया।

इस दौरान हनुमान मंदिर के महंत नेमीचंद कटारा व ओमप्रकाश शर्मा ने भूमि पूजन कराने के बाद सभी को तिलक लगाकर आशीर्वाद दिया। भागवताचार्य लक्ष्मीनारायण शास्त्री ने कहा कि राम से बड़ा राम का नाम है। कथा में आये सभी लोगों से सुबह के समय मंदिर जाकर पूजा करने, सूर्य को जल का अर्घ देने तथा मनुष्य को अपने जीवन काल मे एक बार 7 दिन तक लगातार भागवत कथा सुनने की बात कही। कथा रोजाना दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक होगी। कथा का समापन 24 को होगा।

खबरें और भी हैं...