पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खाद्य सुरक्षा में सेंधमारी:राशन के गेहूं को बाजार में बेचने की तैयारी में था डीलर, हंगामे पर डीलर ने गोदाम सील कराया

सैंपऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आशंका पर ग्रामीणों ने किया हंगामा, जांच के बाद मामला सही निकला
  • 3 जनवरी को कलेक्टर को निरीक्षण में स्टॉक में वितरण से अधिक गेहूं मिलने पर एसडीएम को अभियाेग दर्ज कराने के दिए थे निर्देश

बाड़ी उपखंड की नगला बीधौरा ग्राम पंचायत के गांव मावली के नगला में एक राशन डीलर द्वारा एक मकान में बनाए गोदाम में बड़ी तादाद में खाद्य सुरक्षा के गेहूं का भंडारण किया हुआ था। वह इस गेहूं की कालाबाजारी कर बाजार में बेचने की फिराक में था। इस दौरान कुछ उपभोक्ताओं को इसकी भनक ल गई। इसके बाद उन्होंने राशन डीलर के खिलाफ हंगामा करना शुरू कर दिया। इधर, हंगामे की सूचना मिलते ही मौके पर एसडीएम और रसद विभाग के अधिकारी पहुंच गए, जहां उन्होंने जांच-पड़ताल कर उपभोक्ताओं से बात की।

इसके बाद भंडारण किए हुए गेहूं की जांच करते हुए गोदाम के दरवाजे पर ताला लगाते हुए उसे सील कर दिया। उल्लेखनीय हे कि 3 जनवरी को कलेक्टर आरके जायसवाल ने क्षेत्र की कई राशन दुकानों का औचक निरीक्षण किया था, जिसमें नगला बीधौरा में राशन डीलर राजीव शर्मा की दुकान बीआर 231 में स्टॉक में वितरण से ज्यादा गेहूं मिलने पर एसडीएम को दुकान सीज कर अभियोग दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। ग्रामीणों ने राशन डीलर पर आरोप लगाते हुए बताया कि बदरैठा निवासी राशन डीलर राजू उर्फ राजीव शर्मा द्वारा लोगों को पिछले 3 महीने से खाद्य सुरक्षा का राशन वितरित नहीं किया गया। उपभोक्ताओं की शिकायत पर कुछ दिन पहले ही कलेक्टर के आदेश पर राशन डीलर के एक गोदाम को सील कर दिया गया था, लेकिन राशन डीलर खाद्य सुरक्षा में आने वाले गेहूं का दो गोदामों में स्टॉक करता था।

ग्रामीणों ने राशन डीलर पर आरोप लगाते हुए बताया कि गुरुवार शाम के समय राशन डीलर के द्वारा नगला मावली स्थित एक मकान में भरे गेहूं के कट्टों को खाली किया जा रहा था। इस दौरान ग्रामीणों को कालाबाजारी का अंदेशा हो गया और इसकी सूचना बाड़ी उपखण्ड प्रशासन को दी गई। सूचना पर मौके पर पहुंचे बाड़ी एसडीएम राधेश्याम मीणा, प्रवर्तन निरीक्षक समीक्षा दिनकर, प्रवर्तन निरीक्षक हरवीर यादव सहित हल्का पटवारी नरेश मीणा ने मौके पर पहुंचकर गेहूं के गोदाम को सील करने की कार्रवाई को अंजाम दिया।

पूर्व पंचायत समिति सदस्य अमर सिंह परमार एवं ग्रामीणों ने एसडीएम मीणा को शिकायत करते हुए कहा कि डीलर की मनमानी के चलते उपभोक्ताओं को नियमित रूप से खाद्य सुरक्षा में मिलने वाला राशन नहीं मिल पा रहा है। अनेक बार शिकायत किए जाने के बाद भी डीलर के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं हुई है। इसके चलते डीलर की कार्यशैली बदलने का नाम नहीं ले रही है।
चालाकी यह भी
घर-घर जाकर राशन डीलर पोस मशीन से पहले ही काट देता था राशन की पर्ची

उपभोक्ताओं ने राशन डीलर की कार्यशैली की शिकायत करते हुए एसडीएम राजस्थान मीणा को बताया कि राशन डीलर राजीव शर्मा राशन वितरण करने से पहले ही गांव में घर घर जाकर एडवांस में ही उपभोक्ताओं से अंगूठा लगवा कर पोस मशीन से पर्चियां काट देता है। ऐसा कर डीलर के द्वारा गरीबों के हक के निवाले को कालाबाजारी कर मोटे दामों में बाजार में बेच दिया जाता है। गांव की भोली-भाली जनता डीलर के पास शिकायत करने को जब जाती है तो उन्हें भला-बुरा कह कर भगा दिया जाता है। गुरुवार को राशन डीलर के द्वारा गोदाम में रखे खान सुरक्षा के गेहूं से भरी बैगों को खाली करके कमरे के अंदर गेहूं ढेर लगा रखा था। जिसे ट्रैक्टर में भरकर डीलर राजीव बेचने के लिए बाड़ी जा रहा था। मामले की भनक जैसे भी ग्रामीणों को लगी तो उन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया।

कलेक्टर ने पूर्व में 433 सरकारी कर्मियों को दिए थे नोटिस

इस संबंध में जिला कलेक्टर राकेश जायसवाल ने पूर्व में गरीबों के राशन को हड़पने वाले डीलरों पर कार्रवाई करने के लिए सरकारी कर्मियों को नोटिस दिए थे। उन्होंने 15 जनवरी तक रिकवरी जमा नहीं कराने पर एफआईआर कराने की बात भी कही थी। इसी संबंध में आज जब हंगामा हुआ तो संबंधित राशन डीलर के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई गई।

सूचना मिलने पर गोदाम कराया सील: मीणा

  • ग्रामीणों की सूचना पर मैंने प्रवर्तन निरीक्षक को मौके पर भेजा और खुद भी जाकर गेहूं के गोदाम को सील कर दिया है। मामले की पूरी जांच के बाद आरोपी राशन डीलर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। - राधेश्याम मीणा, उपखण्ड अधिकारी बाड़ी
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें