पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जेईएन ने कराया मामला दर्ज:अवैध ट्रांसफार्मर लगाकर बिजली चोरी के लिए डाल रखी थी लाइन

सैंपऊएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • केबल में कट होने से करंट लगने पर हुई थी 13 भैंसों की माैत

कंचनपुर थाना इलाके के गांव कांसपुरा में गुरुवार को 13 भैंसों की करंट से मौत के कारणों का डिस्कॉम के अधिकारियों ने जांच कर खुलासा किया है। हादसे के बाद अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जांच की तो सामने आया है कि जिस लाइन से 13 भैंसों की मौत होना बताया जा रहा है, वह डिस्कॉम की लाइन नहीं है, बल्कि गांव के ही एक व्यक्ति द्वारा खेत पर अवैध ट्रांसफार्मर लगाकर घर के लिए केबल डाली गई है।

अधिकारियों का कहना है कि लाइन में हुए कट की चपेट में आने की वजह से ही हादसा हुआ है। इस मामले में कंचनपुर जीएसएस पर तैनात जेईएन कुलदीप शर्मा द्वारा कांसपुरा निवासी मुन्ना पुत्र राजवीर कुशवाह के खिलाफ पुलिस थाने में अवैध रूप से विद्युत ट्रांसफार्मर लगाकर बिजली चोरी करने और करंट की चपेट में आने से 13 भैंसों की मौत होने का मामला दर्ज कराया है।

जानकारी देते हुए जेईएन कुलदीप शर्मा ने बताया कि कांसपुरा में पोखन बाबा के मंदिर के पीछे मुन्ना पुत्र राजवीर कुशवाहा ने अपने खेत पर अवैध रूप से ट्रांसफार्मर लगाकर अवैध केबिल के द्वारा बिजली चोरी कर रहा था। केबिल में कट के कारण ही वहां से गुजर रही भैंसे जमीन पर पड़े अवैध केबल की चपेट में आ गई। जिससे मौके पर ही 13 भैंसों की मौत हो गई। पुलिस ने कनिष्ठ अभियंता की तहरीर पर आरोपी मुन्ना कुशवाहा के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

कर्मचारियों को खबर नहीं या मिलीभगत से हो रही चोरी

कांसपुरा में हुए विद्युत हादसे में डिस्कॉम की लापरवाही भी साफ नजर आ रही है। हालांकि इस मामले में लीपापोती करते हुए डिस्कॉम के अधिकारियों ने अवैध ट्रांसफार्मर लगाकर बिजली चोरी कर रहे गांव के एक व्यक्ति के खिलाफ मामला जरूर दर्ज करा दिया है। लेकिन बड़ी बात यह है कि अवैध ट्रांसफार्मर लगाकर जो बिजली चोरी की जा रही है उसकी डिस्कॉम के अधिकारी एवं कर्मचारियों को खबर तक नहीं लगी। जबकि आए दिन डिस्कॉम की टीम द्वारा बिजली छीजत रोकने को छापामार कार्रवाई की जाती है। लोगों का कहना है कि इस पूरे मामले की निष्पक्ष रूप से जांच होनी चाहिए, तभी हकीकत सामने आ सकती है।

6 दिन पहले लाइनमैन ने लिखित शिकायत दी थी, लेकिन पुलिस फोर्स नहीं मिला : एक्सईएन

इस मामले को लेकर जब बाड़ी एक्सईएन राजेश माथुर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बिजली की अवैध चोरी को लेकर लाइनमैन ने लगभग 6 दिन पहले शिकायत की थी। उसकी शिकायत पर हमने कार्रवाई के लिए पुलिस प्रशासन को पुलिस फोर्स उपलब्ध कराने को कहा था, लेकिन फोर्स नहीं मिलने के कारण कार्रवाई नहीं हो सकी।

बिजली चोरी में कर्मचारियों की मिलीभगत होने के सवाल पर एक्सईएन माथुर का कहना है कि अगर लाइनमैन इसमें लिप्त होता तो वह शिकायत ही नहीं करता। माथुर का कहना है कि कार्रवाई के दौरान कई बार ग्रामीण हमला कर देते हैं, इसलिए हम पुलिस फोर्स को साथ लेकर ही कार्रवाई करते हैं।

खबरें और भी हैं...